Horror story in Hindi – “Call center का coffee machine…” PART 2

khatarnak horror story in hindi

Horror story in Hindi – नमस्कार दोस्तों, फिर से मैं अनिरुद्ध आपका स्वागत करता हूँ मेरे ब्लॉग TravelHindi.com पर| दोस्तों आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ Horror story in Hindi – “Call center का coffee machine…” का दूसरा और अंतिम PART 2 | अगर आपने इस horror story का Part 1 नहीं पढ़ा है तो पहले उसे पढ़ ले – click here

Horror story in hindi – सुधा की training शुरू हो गयी

ट्रेनिंग शुरू हो चुकी थी| सारे freshers अपने अपने system में बैठकर training का हिस्सा बन चुके थे| Team leader रोहन सभी freshers को एक एक करके समझा रहा था| बीच में बॉस अमित की entry भी हुई| बॉस ने भी सारे freshers को एक एक करके परखा| लगभग 2 घंटे बाद रोहन ने एक छोटे break की घोषणा की|

सुधा अपने system पर बैठे कुछ काम निपटाने लगी| काम ख़तम करते ही जब हो अपने system से उठी तो सब जा चुके थे| सुधा काम में इतनी busy थी की उसे ख्याल ही नहीं रहा| अब training room में सुधा अकेली थी|

khatarnak horror story in hindi
khatarnak horror story in hindi

Horror story in hindi – सुधा coffee के लिए Room 2 की तरफ बढ़ी

सुधा Training hall Room 1 से निकली और Room 2 की तरफ देखा| वहाँ कोई नहीं था| सुधा ने मन ही मन सोचा कॉफ़ी रूम तो खाली है, फिर सारे गए कहाँ? सब के सब क्या निचे चले गए? शायद किसी को कॉफ़ी पसंद नहीं, इसलिए खाली है| सुधा ने पहले सोचा की निचे ऋतू के पास चला जाए, लेकिन ऋतू शायद client के साथ phone पर रहे, क्योकि एकदम से निचे floor में घुसना मना था जहाँ ऋतू बैठती थी| उसने सोचा की चलो एक कप कॉफ़ी पिया जाये| और फिर सुधा ‘Room 2 coffee रूम’ की तरफ बढ़ने लगी|

रूम 2 के दरवाज़े पर कांच लगा था और काफी धूल जमी थी| उसने कांच से अंदर झांक कर देखा, और हैरान रह गयी| अंदर रूम बहुत साफ़ था और सामने एक कॉफ़ी मशीन रखा था| कॉफ़ी मशीन देखकर सुधा के जान में जान आयी|

Khatarnak Horror story in hindi – सुधा ने खोला room 2 का दरवाज़ा

दरवाज़ा खोलने के बाद सुधा को रूम काफी साफ़ सुथरा दिखा| पर अंदर से कुछ अजीब बदबू आ रही थी| शायद कोई चूहा मरा हो!! पर इतने साफ़ सुथरे रूम में चूहा कैसे आ सकता है? जो भी हो सुधा आगे बढ़ी|

दरवाज़ा automatic था इसलिए अपने आप बंद हो चूका था| सामने कॉफ़ी मशीन रखा था जिसमे धूल जमा हुआ था| सुधा को अजीब लगा!! रूम साफ़ लेकिन मशीन में इतनी गंदगी|

सुधा ने जब मशीन को हाथ लगाया तो मशीन काफी गरम था| शायद अभी अभी किसी ने कॉफ़ी पिया हो| सुधा ने मशीन से कॉफ़ी निकाली और पास रखे बेंच पर बैठ गयी| सुधा काफी relax लग रही थी क्योकि उसके हाथ में उसकी favourite drink कॉफ़ी थी|

कॉफ़ी की एक चुस्की लेकर सुधा ने अपने मोबाइल की तरफ देखा| वो एकदम से रुकी और फिर दोबारा कॉफ़ी कप की तरफ देखा| कॉफ़ी काफी tasty थी| शायद इतनी दमदार coffee उसने आज तक नहीं पी थी|

मोबाइल की तरफ देखकर सुधा ने पाया मोबाइल में नेटवर्क नहीं है| अजीब है, यहाँ तो full tower रहता है!! सुधा ने मोबाइल को switch off किया फिर on किया| अभी मोबाइल में tower था|

Real horror story in hindi – मोबाइल का screen काँपना, अजीब अजीब आवाज़े

मोबाइल में थोड़ी देर msg check करते करते सुधा ने ये महसूस किया की उसके मोबाइल का screen काँप रहा है| अजीब है, ये हो क्या रहा है इस रूम में?? सुधा ने कॉफ़ी के कप को पास पड़े टेबल में रखा और दरवाज़े की और बढ़ी|

ये क्या!! दरवाज़ा किसने बंद किया? जिस कॉफ़ी रूम में सुधा थी उसका दरवाज़ा बंद हो चूका था| सुधा ने ज़ोर ज़ोर से दरवाज़े पर अपने हाथ से आवाज़ की लेकिन उसे सुनने वाला कोई नहीं था| सबसे चौकाने वाली बात ये थी की सुधा ने जब दरवाज़े के कांच से बाहर का नज़ारा देखा तो हैरान रह गयी| सामने Room 1 training hall के gate के पास एक security guard अजीब तरह से सिर झुकाये बैठा था|

सुधा साफ़ देख पा रही थी उसकी आँखें खुली हुई है और वो निचे की तरफ सर झुकाये चुप चाप बैठा है| सुधा ने रूम के अंदर से आवाज़ लगायी- “ओ Security वाले भईया…!! दरवाज़ा नहीं खुल रहा है, बहार से लगा दिया शायद किसी ने, जरा खोल देना”|

पर उस Security ने कोई response नहीं दिया| सुधा समझ गयी थी की शायद आवाज़ उस तक नहीं पहुंच पा रही है| वो ज़ोर ज़ोर से दरवाज़े पर अंदर से हाथ मारने लगी| लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा| वो Room 2 के अंदर से चिल्लाती रही और दरवाज़े के कांच से देखती रही, लेकिन security चुप चाप chair में सर झुकाये बैठा था|

सुधा ने फिर अपना मोबाइल check किया| इस बार screen नहीं काँप रहा था| लेकिन फ़ोन में network भी नहीं था| तभी सुधा को एक ख्याल आया जिसे सोच कर वो पल भर के लिए घबरा गयी| उसने मन ही मन अपने आप से पूछा-

“ये security वाले भईया को तो पहले office में कभी नहीं देखा!!” फिर उसने अपने मन को समझाते हुए कहा शायद इसकी ड्यूटी ऊपर वाले floor पे रहती होगी| फिर सुधा ने मन ही मन गुस्से में कहा – “एक बार निकलने दो इस रूम से, इसकी खैर नहीं..” कबसे चिल्ला रही हूँ, इसे दिख भी नहीं रहा; और बाहर से रूम को बंद करके सामने बैठा है| अकाल भी नहीं है की रूम को lock करने से पहले एक बार रूम के अंदर देख लेना चाहिए की कोई है भी या नहीं!!

Bhayanak horror story in hindi – सुधा ने कुछ ऐसा देखा जिसे देखकर वो बेहोश हो गयी

तभी सामने सीढ़ियों में से उसके team का leader (TL) चलकर Room 1 की ओर आ रहा था| सुधा ने मन ही मन सोचा – “अब रोहन सर इसकी खबर लेंगे|”

लेकिन ये क्या सामने जिस chair पर security guard बैठा था उसके पास आकर रोहन रुक गया और यहाँ वहाँ देखने लगा| सिक्योरिटी गार्ड चुप चाप बैठा रहा| सुधा ने मन ही मन सोचा – “कैसा गार्ड है, senior आ रहा है और चुपचाप बैठा है?” कोई salute नहीं, respect नहीं???

सुधा ने देखा की रोहन चेयर के पास खड़े खड़े यहाँ वहाँ कुछ ढूंढ रहा था| सुधा ने देखा की रोहन सर के जूते के lace खुले थे| तभी रोहन ने जिस चेयर पर सिक्योरिटी गार्ड बैठा था उसपर अपने पैरों को रखा और जूते के lace बांधने लगा; जैसे कोई उस chair में बैठा ही नहीं था| तभी चेयर में बैठे सिक्योरिटी गार्ड ने एकदम से room 2 के दरवाज़े की तरफ देखा और अंदर से चिल्ला रही सुधा से नज़रे मिलाई और ज़ोर ज़ोर से हंसने लगा|

सुधा ने और देखा – रोहन को खड़े खड़े चेयर में पैर रखकर जूते के lace बांधने में problem आ रही थी इसलिए वो उस चेयर पर बैठ कर जूते के lace बांधने लगा जिसपर सिक्योरिटी गार्ड बैठा था|

इतना देखते ही सुधा खड़े खड़े एकदम से गिर गयी और बेहोश हो गई|…

Horror story in hindi – सुधा को आया होश

कुछ घंटो के बाद जब सुधा को होश आया तो वो निचे floor में अपन cabin पर बैठी थी| आँख खोलते ही उसने अपने आस पास office के बाकी staffs को देखा| वहाँ ऋतू, team leader रोहन, बॉस अमित, और बाकी सारे staffs मौजूद थे|

बॉस अमित ने पानी का गिलास सुधा की ओर बढ़ाते हुए सुधा से पूछा, “सुधा क्या हुआ था, तुम room 2 में क्या कर रही थी??” रूम में इतनी गंदगी है, और अँधेरे में तुम रूम में घुसी कैसे??

इतना सुनते ही सुधा चौक गई, और अपने आप से कुछ सवाल पूछने लगी – रूम में अँधेरा कहा था? रूम तो इतना साफ़ था! अंदर paintings लगे थे, कितना साफ़ था! और इतना सोचते ही सुधा के मुँह से एक आवाज़ निकली – “और वो coffee machine”???

ये सुनते ही ऑफिस के सार staffs एक दूसरे को देखने लगे| वो एक दूसरे को कुछ इस तरह देख रहे थे जैसे वो बहुत कुछ जानते हो; या फिर कोई गहरा राज़ छुपा रहे हो!!

Climax – तो क्या थी असल कहानी?

दरअसल उस BPO Office के उस ऊपर वाले floor के उस room 2 में canteen हुआ करती थी जहाँ लोग काम के बीच आकर relax करते थे और coffee पीते थे| वहाँ room 2 training hall के बाहर एक सिक्योरिटी गार्ड हुआ करता था जो वहाँ रखे computers, electronic चीज़ो, और पुरे system की देख रेख करता था|

वो गार्ड कॉफ़ी पिने का बहुत शौक़ीन था इसलिए वो कॉफ़ी मशीन से बीच बीच में कॉफ़ी पी लेता था| एक दिन बॉस ने उसे कॉफ़ी पीते देख लिया था| और इस छोटी सी बात पर उसे नौकरी से निकाल दिया था| गार्ड नौकरी खो देने दे गम से पूरी तरह depression में चला गया था| ज़िन्दगी से परेशान होकर एक दिन उसने उस कॉफ़ी मशीन वाले रूम 2 में suicide कर लिया|

तब से लेकर आज तक उस call center में काम कर रहे employees ने उस गार्ड को उसी chair में सर झुकाकर बैठे हुए बहुत बार देखा है, और senior से complaint भी की है; लेकिन उन employees की बातों पर कोई विश्वास नहीं करता और आज भी सुधा के साथ कुछ ऐसा ही हुआ!!


— The end —

# Motivational story in hindi

Good Night Shayari in hindi – ‘हर रात मुझे अपने ख्यालो में रख कर…’

Good Night Shayari in hindi

Good Night Shayari in hindi – नमस्कार दोस्तों फिर से मैं अनिरुद्ध आप सभी का स्वागत करता हूँ मेरे ब्लॉग TravelHindi.com पर| दोस्तों आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ कुछ best collection of good night love shayari in hindi जिन्हे आप अपने किसी करीबी दोस्त, पार्टनर या अपने किसी चाहने वाले को send कर सकते है और good night wish कर सकते है|

आज कल स्मार्टफोन के युग में ये काफी देखा गया है की हम सोने से पहले अपने दोस्तों को या चाहने वालों को good night wish करते है| ऐसे में आप इन् good night shayari का प्रयोग कर सकते है| तो चलिए देखते है उन good night love shayari को|

Good Night Love Shayari in hindi
Good Night Love Shayari in hindi

Good Night Status in hindi

Final words-

तो कैसे लगे आपको ये good night shayari in hindi ? मैं उम्मीद करता हूँ आपको पसंद आये होंगे| आज के लिए इतना ही| बहुत जल्द मैं आपके लिए एक और interesting article लेकर हाज़िर रहूँगा| तब तक के लिए मेरे ब्लॉग TravelHindi.com के साथ बने रहे|

– अनिरुद्ध

You may also like to read-

# Best places to visit in Shillong

# Best waterfalls in India

Motivational story in hindi – Normal लड़का बना Packaging industry का Ambani

Motivational story in hindi for success

Motivational story in hindi – नमस्कार दोस्तों, मैं अनिरुद्ध फिर से आपका स्वागत करता हूँ मेरे hindi blog TravelHindi.com पर| दोस्तों आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ एक motivational story in hindi | आज की hindi motivational story है Sudip Dutta की जो दुर्गापुर, पश्चिम बंगाल से है| सुदीप दत्ता की कहानी आज के युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत है जो छोटी छोटी परेशानियों से हार मानकर ज़िन्दगी से हार मान लेते है और परिस्थितियों को कोसते रहते है|

आज की motivational kahani से आप सिख पाएंगे कि कैसे एक उद्देश्य को पूरा करने के लिए बड़ी सोच, पक्का इरादा और कभी ना हार मानने वाला जज्बा काम कर जाता है| आज की motivational story in hindi से आप ये भी सिख पाएंगे की ज़िन्दगी के हर मोड़ पर हमे कैसे मुसीबतों से निकलना है, कैसे उनसे जूझना है| तो चलिए शुरू करते है आज की motivational story in hindi for success |

Motivational story in hindi for success
Motivational story in hindi for success

Motivational story in hindi for success – कौन है Sudeep Dutta?

सुदीप के पिता इंडियन आर्मी में थे और युद्ध में गोली लगने के कारण वो paralysis stage में थे| ऐसे में घर में कमाने वाला सिर्फ सुदीप के बड़े भाई थे, जो खुद बीमारी से गुजर रहे थे| पिता की ऐसी हालत देखकर सुदीप के बड़े भईया टूट चुके थे और उनकी बीमारी में ठीक से इलाज ना होने के कारण वो चल बसे| सुदीप के बड़े भईया की मृत्यु के बाद सुदीप के पिता भी इस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पाए और उनकी भी मृत्यु हो गयी|

ऐसे में सुदीप के ऊपर उनकी माँ और चार भाई-बहनों की जिम्मेदारी आ गयी| आप खुद सोचिये उस समय सुदीप किस मानसिक स्तिथि से गुजर रहे थे| सुदीप को तब ये समझ नहीं आ रहा था की वो कैसे अपने परिवार को संभाले| अब तक तो वो पिताजी और भईया के चले जाने के दुःख से निकले ही नहीं थे की उन्हें रोज़ी-रोटी की चिंता सताने लगी| सोचिये उस समय उनकी मानसिक स्तिथि क्या रही होगी?

Motivational story in hindi for success – कैसे संभाला सुदीप ने अपने आप को और अपने परिवार को?

फिर सुदीप ने दुर्गापुर में रिक्शा चलाने का काम शुरू किया, और वो रेस्टोरेंट में waiter का काम भी करते थे| फिर थोड़े दिनों बाद वो अच्छे काम एक तलाश में मुंबई आ गए| मुंबई में शुरुवाती दिनों में उन्हें काम नहीं मिला इसलिए उन्हें दादर स्टेशन पर रात को सोना भी पड़ता था|

फिर धीरे धीरे दिन बीतता गया| लेकिन सुदीप ने हार नहीं मानी| और फिर वो कहते है ना “जो अपने आप से हार नहीं मानता उस से किस्मत हार मान लेती है”| ठीक ऐसा ही हुआ| सुदीप को एक packaging factory में काम मिल गया|

Businessman Motivational story in hindi – क्या है packaging factory? और कैसा था उन दिनों सुदीप का जीवन?

आपने tablets दवाइयों के packets को देखा होगा जो aluminium foils से बने रहते है या फिर ट्रैन से सफर करने के दौरान हमे जो aluminium foils में खाना मिलता है; तो इन सब foils को बनाने का काम इस factory में होता था|

फैक्ट्री में सुदीप को 15 रुपया रोज़ाना की मजदूरी पर रखा गया था और सोने के लिए एक common room दिया गया था जहाँ सभी मजदूर एक साथ सोते थे| कमरा इतना छोटा था की सोते समय हिलने-डुलने की जगह भी नहीं होती थी| मतलब आप कल्पना कीजिये की सोने के दौरान आप एक साइड से दूसरे साइड करवट भी नहीं ले सकते!!

सब कुछ ठीक चल रहा था| लगभग दो साल गुजर गए थे| लेकिन तभी उस फैक्ट्री के मालिक ने फैक्ट्री बंद करने का निश्चय किया क्योकि फैक्ट्री बहुत नुक्सान में चल रही थी और market से काफी पैसा क़र्ज़ लिया जा चूका था| ऐसे में वहाँ काम कर रहे सारे मजदूर रातो रात तबाह होने जा रहे थे| सब नौकरी छोड़ कर नई जगह जा रहे थे|

ऐसी कठिन परिस्थिति में सुदीप ने चौकाने वाला decision लिया| सुदीप ने फैक्ट्री को खुद चलाने का फैसला किया| इसके लिए सुदीप ने अपनी बचत की लगभग सारी सैलरी फैक्ट्री मालिक को देकर फैक्ट्री को खरीदना चाहा| बताया जाता है सुदीप ने उन दिनों 16,000 रुपये इकट्ठा किये थे| लेकिन ये राशि फैक्ट्री खरीदने के लिए बहुत ही कम थी|

Success story in hindi – सुदीप ने दिया फैक्ट्री मालिक को partner बनने का proposal

सुदीप ने 16000 रुपये के साथ साथ फैक्ट्री मालिक को एक नया proposal दिया जिसमे सुदीप ने आने वाले 2 साल का मुनाफा भी फैक्ट्री मालिक को देने का वादा किया| सुदीप के confidence और जज्बे को देखकर फैक्ट्री मालिक अंततः मान गया|

अब सुदीप उसी फैक्ट्री का मालिक बन चूका था जहाँ वो कुछ दिनों पहले तक एक सामान्य मजदूर था| सुदीप उन दिनों सिर्फ 19 साल का था|

Business success story in hindi – सुदीप का बिज़नेस प्लान

सुदीप फैक्ट्री का मालिक बन चूका था| चूँकि सुदीप कई सालो से एक मजदूर के तौर पर काम कर रहा था इसलिए उसके पास experience की कोई कमी नहीं थी| उन दिनों aluminium packaging company का बुरा दौर चल रहा था| यहाँ तक की India foils Ltd. जैसी बड़ी company भी बंद पड़ी थी| उन दिनों Zindal aluminium जैसी कुछ गिनी चुनी company अपने brand name के कारण मार्केट में चल रहे थे|

उन दिनों Zindal जैसी बड़ी कंपनी के सामने टिक पाना बहुत मुश्किल था| लेकिन सुदीप ने हार नहीं मानी| सुदीप ने छोटी मोटी कंपनी से आर्डर लेना जारी रखा और मार्केट रिसर्च करते रहे|

सुदीप इस दौरान अपने फैक्ट्री के उत्पाद के बारे में बड़ी बड़ी कंपनी को बताते थे| चूँकि सुदीप के फैक्ट्री के पास बेहतर उत्पाद और नयापन था इसलिए कई कंपनी interest लेने लगी|

Motivational story in hindi – सुदीप की मेहनत रंग लाई

सुदीप की कोशिश जारी थी| और किसी ने सही भी कहा है कि ‘आपकी मेहनत बेकार नहीं होती और कोशिश करने वालो की हार नहीं होती’| फिर धीरे धीरे सुदीप को Nestle, Sun pharma, Cipla जैसी बड़ी company से order मिलने शुरू हो गए| और सुदीप इस बार मार्केट में खड़े हो गए| सुदीप की कंपनी Ess Dee aluminium ltd. मार्केट में अपनी जगह बना चुकी थी|

लेकिन वो कहते है ना जब आप खड़े होते हो तो आपको बैठाने/गिराने वाले सामने बहुत आते है| अब ये आपके ऊपर है की आपको बैठना/गिरना है या खड़े होते हुए चलना है या रौंदकर चलना है| अगर आप किसी भी तरह चले तो टिक पाओगे वरना मार्केट से गायब हो जाओगे!!

Business story in hindi – सुदीप के सामने competitors आ चुके थे

सुदीप के साथ भी कुछ ऐसा हुआ| सालो से बंद पड़ी India foils ltd. कंपनी को Vedanta group ने खरीद लिया और मार्केट में खड़ा कर दिया| अब Zindal के बाद ये दूसरा बड़ा competitor मार्केट में खड़ा हो चूका था| सुदीप किसी तरह India foils को हासिल करना चाहते थे| लेकीन इस से पहले Vedanta ने India foils को अपने नाम कर लिया|

लेकिन सुदीप डगमगाएं नहीं, बल्कि अपने फैक्ट्री के उत्पाद पर ज्यादा ध्यान दिया और अलग अलग packaging concept और products बनाकर मार्केट में डटे रहे| अंततः Vedanta packaging field में टिक नहीं पायी और Vedanta packaging market में loss में चलने लगी| और फिर सुदीप ने India foils ltd. का 90% हिस्सा अपने नाम कर लिया| इस deal के बाद Vedanta packaging मार्केट से पूरी तरह से गायब हो गयी|

इस बार सुदीप दोबारा खड़े हुए और packaging industry के ‘Guru’ कहलाने लगे| साल 2000 तक सुदीप ने 20 से भी ज्यादा production unit स्थापित कर लिया था और उनकी कंपनी Ess Dee aluminium ltd. Pharma packaging market में Top पर rank कर गई|

आज सुदीप के कंपनी shares Bombay stock exchange और National stock exchange में भी मौजूद है|

Final words-

दोस्तों तो ये थी आज की motivational story in hindi जो हमे बहुत कुछ सिखाती है| आज की motivational kahani हमे ये सिखाती है की skills और जूनून के सामने बड़े बड़े degrees भी नहीं टिकते| सुदीप market research में माहिर थे| उन्हें ये पता था की मार्केट में कब क्या चल रहा है, और फैक्ट्री में मज़दूर के तौर पर उनके पास सालो का experience भी आ चूका था|

सुदीप के पास जूनून के साथ साथ बहुत बड़ा दिल भी है इसलिए आज उनकी NGO Sudeep Dutta foundation गावों के जरूरतमंद युवाओं के लिए काम कर रही है|

आज के लिए सिर्फ इतना ही| मैं बहुत जल्द एक और नए interesting article के साथ TravelHindi.com पर हाज़िर होऊंगा| तब तक के लिए TravelHindi.com के और भी articles पढ़े और मेरे साथ बने रहे|

– अनिरुद्ध

You may also like to read:-

# Business success story in hindi – कैसे एक housewife ने खड़ा किया 10 crore turnover का बिज़नेस – click here to read

English Bolna kaise Sikhe? आज ही FREE Video classes से शुरू करे

English Bolna kaise Sikhe

English Bolna kaise Sikhe – नमस्कार दोस्तों, मैं अनिरुद्ध आज फिर आप सभी का स्वागत करता हूँ मेरे ब्लॉग TravelHindi.com पर| शायद आप कभी ना कभी इंटरनेट पर ‘English Bolna kaise Sikhe‘ जरूर search करते होंगे| या फिर अपने मन ही मन खुद से ये प्रश्न पूछते होंगे ‘English kaise Sikhe‘?

दोस्तों आज इंग्लिश बोलना एक trend बन चूका है| हर field में आज english bolna जरुरी हो गया है| ऐसे में हम english sikhna तो चाहते है लेकिन समय के अभाव या सही direction नहीं मिल पाने की वजह से ये हो नहीं पाता|

English Bolna kaise Sikhe
English Bolna kaise Sikhe

आज इस आर्टिकल में मैं आपके english sikhne को लेकर सारे problems का solution लेकर आया हूँ| आज मैं आपको बताऊंगा best youtube channel to learn english from home | जी हां अब आप इंग्लिश अपने घर पर बैठकर अपने मोबाइल से सिख सकते है, वो भी FREE | तो चलिए जान लेते है उन youtube channel के बारे में जहाँ से आप English sikh sakte hai |

English Bolna kaise Sikhe – Best youtube channel to learn english

LearnEX youtube channel – English sikhne ke liye best youtube channel

ये youtube channel English sikhne के लिए एक complete free package है| सबसे ख़ास बात है यहाँ english sikhane का तरीका जो काफी simple है और सरल हिंदी भाषा में है| यहाँ आप basic english बोलने से लेकर modern daily प्रयोग आने वाले english को भी आसानी से सिख सकते है|

चलिए देखते है ये introduction video-

source

इस youtube channel में सबसे ख़ास बात है इनके creative पढ़ाने का तरीका जिस से आप आसानी से English सिख सकते है| चलिए एक और video class देखते है-

source

आप इस youtube channel को FREE subscribe करके रोज़ english classes देख सकते है|

# LearnEX youtube channel – click here to subscribe

Spoken English guru Youtube channel – Spoken english सिखने का best youtube channel

अगर आप spoken english sikhna चाहते है तो ये youtube channel आपके लिए best option है| यहाँ आप self introduction से लेकर english के हर एक grammar rule के बारे में जान पाएंगे जो बोल चाल में प्रयोग की जाती है|

चलिए देखते है ये introduction video जिसमे काफी अच्छे से बताया गया है कैसे self introduction दिया जाता है-

video source

इस youtube channel को अब तक 3.7 million लोगो ने subscribe किया है| चलिए एक और video tutorial देखते है जिसमे हर रोज़ प्रयोग में लाये जाने वाले english sentences के बारे में बताया गया है|

video source

# इस youtube channel को free subscribe करने के लिए और सारे video classes देखने के लिए – click here

Dev spoken English youtube channel – Learn English fluently

अगर आप simple hindi भाषा में english sikhna चाहते है तो आप Dev sir के youtube classes free में join कर सकते है| इनके english पढ़ाने का सबसे ख़ास तरीका है ये पहले class शुरू करने से पहले concept को समझाते है, फिर पढ़ाना शुरू करते है|

उदहारण के तौर पर आप इस introduction video को देखिये जिसमे english बोलने के psychological concept को बताया गया है-

video source

इस youtube channel को अब तक 205 K subscribers मिल चुके है| इनके conceptual पढ़ाने के तरीके को लोग काफी पसंद कर रहे है| चलिए इसी channel का एक और वीडियो क्लास देखते है जिसमे English के is/am/are; do/does; have/has के ऊपर बताया गया है-

video source 

# अगर आप Dev sir के spoken english classes को free subscribe करना चाहते है और इनके सारे videos देखना चाहते है तो – click here

DSL English youtube channel – Spoken english सीखे motivation के साथ

दोस्तों अगर आप english में कमज़ोर है तो english शुरुवात से सिखने के लिए आपको motivation की जरुरत पड़ सकती है| बिना motivation और proper guidance के आप कुछ भी नहीं सिख सकते चाहे आप कितना भी बड़ा course क्यों ना join कर ले!!

इंग्लिश सिखने के शुरुवाती दौर में आप झिझक महसूस कर सकते है| उस झिझक को दूर करने के लिए आप DSL English classes को जरूर follow करे| इस यूट्यूब चैनल को अब तक 3.14 million subscribers मिल चुके है|

उदहारण के तौर पर आप इस वीडियो को देखिये जिसमे इंग्लिश में basic बोलचाल को शुरू करने पर बताया गया है-

video source

# DSL english youtube channel को free subscribe करने के लिए – click here

Dear Sir youtube channel – English Tenses की पूरी दुनिया एक class में सीखे

इंग्लिश सिखने के दौरान हमेशा students Tenses और उसके विभिन्न प्रकारों को समझने में बहुत confuse हो जाते है जैसे past participle, future, present, present continuous, इत्यादि| लेकिन Dear Sir के सिर्फ एक free Mega class से आपके tenses को लेकर सारे doubts clear हो जायेंगे|

इसे mega class इसलिए कहा गया है क्योकि ये class (1 घंटे 57 मिनट) का है, लगभग 2 घंटे| चलिए देखते है इस वीडियो में पूरा english tense क्लास –

video source

सिर्फ English ही नहीं, बल्कि “Dear sir youtube चैनल” सरकारी नौकरी की free coaching भी देते है| और ख़ास बात ये है की इनके classes आपको किसी भी सरकारी नौकरी की परीक्षा को paas करने में मदद करेंगे| निचे वीडियो को देखिये, आप खुद समझ जायेंगे-

video source

Dear sir youtube channel को अब तक 4.46 million subscribers मिल चुके है| और इनमे से बहुत से subscribers ऐसे भी है जो आज सरकारी नौकरी भी पा चुके है|

# Dear sir youtube channel ko free subscribe करने के लिए और सारे videos देखने के लिए – click here

Final words-

तो कैसा लगा आपको आज का मेरा ये आर्टिकल? मैं उम्मीद करता हूँ आज के बाद आप english sikhne को लेकर और problem face नहीं करेंगे| अब आप अपने घर बैठे ऊपर बताये गए youtube channels से आराम से अंग्रेजी सिख सकते है| आज के लिए इतना ही!! मैं आपके लिए बहुत जल्द एक और interesting आर्टिकल लेकर आऊंगा|

– अनिरुद्ध

You may also like to read –

# Success tips for students in hindi

# Motivational real success story in hindi

Real Success story in hindi – 17 साल का लड़का कैसे बना Millionaire

real success story in hindi

Real Success story in hindi – नमस्कार दोस्तों मैं अनिरुद्ध फिर से आपका स्वागत करता हूँ मेरे ब्लॉग TravelHindi.com पर| आज मैं आपको बताने वाला हूँ एक real success story जिसमें एक 17 साल का लड़का अपने programming skills, creative ideas और अपने दिमाग से कैसे millionaire बनता है| जी हां, सही पढ़ा आपने 17 साल में millionaire | ये सच में हैरान करने वाली बात है!!

उस लड़के का नाम है Nick D’Aloisio जो एक British computer programmer है| Nick ने 17 साल की उम्र में SUMMLY नाम के एक application software से अपनी पहचान दुनिया में बनाई|

और बाद में उसके इसी application को उस समय की सबसे popular internet company Yahoo ने $30 million में ख़रीदा| मतलब आप जरा सोचिए, 17 साल की उम्र में millionaire बनना कितनी बड़ी बात है| Yahoo जैसी इतनी बड़ी internet company का Nick के Summly application को खरीदना उस ज़माने का एक बहुत बड़ा business deal साबित हुआ था| तो चलिए पढ़ते है इस पुरे motivational real business success story के बारे में|

real success story in hindi
true success story in hindi image source

Motivational Real success story in hindi – कैसे 17 साल का लड़का बना millionaire

कौन है Nick D’Aloisio?

Nick एक computer programmer है| निक ने साल 2011 में एक iOS Application बनाया था जिसका नाम था “TRIMIT“|

Trimit एक गजब का application था जो 1000 words के लम्बे आर्टिकल को 200 words के एक summary में create करता था| मतलब बड़े बड़े articles को पढ़ने की जरुरत ही नहीं पड़ती थी, सिर्फ एक click से 1000 words का article सिर्फ 200 words में convert हो जाता था|

ये आईडिया निक को तब आया जब वो अपने exam के लिए लम्बे लम्बे notes पढ़ता था और concept समझता था| लेकिन लम्बे notes होने के कारण बहुत समय लगता था| इसलिए निक ने अपने programming दिमाग से 15 साल की उम्र में Trimit app बना डाला|

बनाने के बाद निक ने इस app को iPhone App store में upload किया| उन दिनों android google play store नहीं बना था इसलिए निक ने उस app को Apple iPhone store में upload किया था|

iPhone App store में निक को बहुत अच्छा response मिला, और निक के इस app को कुछ ही दिनों में 2 lakhs से भी ज्यादा डाउनलोड मिले| फिर कुछ ही दिनों में Nick का Trimit app iPhone app store में ‘top category app’ बन गया|

उन दिनों Apple iPhone app store में अपनी जगह बना पाना अपने आप में एक बहुत बड़ी बात थी| लेकिन निक के इस creative application ने iPhone store में एक नई जगह पा ली थी|

कैसे “TRIMIT” को एक नया नाम मिला “SUMMLY” ? Business Real success story in hindi-

इस success के बाद Nick अपने इस application को एक नया update देना चाहता था क्योकि उसके पास बहुत से नए programming skills मौजूद थे| लेकिन असल problem थी finance की| निक को एक investor की जरुरत थी इसलिए उसने अपने application के बारे में presentation और reviews बनाने शुरू कर दिए|

business success story in hindi
business success story in hindi image source

फिर निक के लाइफ में आया एक नया टर्न| निक के इस creative application पर एक billionaire ‘Li Ka Sing‘ की नज़र पड़ी| ‘Li ka sing’ Hong Kong के एक रईस businessman थे| Li ka sing को निक का Trimit application बहुत पसंद आया और finally उन्होंने निक के इस app में $3 लाख का capital fund लगाया|

Real success story in hindi > Trimit का नया update version Summly हुआ launch-

अब निक के पास fund आ चूका था| अब बारी थी निक के creative programming दिमाग की| निक ने जी-तोड़ मेहनत की और साल 2012 के अंत तक Trimit app का नया updated version Summly के नाम से लांच कर दिया|

निक के इस नए version ने market में तहलका मचा दिया| Summly उन दिनों मार्केट में इतना चला की Yahoo की नज़र इस application पर पड़ी| उन दिनों google उतना popular नहीं था इसलिए Yahoo सबसे best search engine हुआ करती थी|

Yahoo उन दिनों नए और creative ideas लांच करना चाहती थी और yahoo को निक का ये Summly version बहुत पसंद आया| और finally Yahoo ने निक से वो application (Summly) $30 million में ख़रीदा|

उन दिनों ये business deal मार्केट की सबसे बड़ी business deals में से एक थी| और सबसे ख़ास बात थी ये deal थी एक 17 साल के लड़के और Yahoo company के बीच की!!

Success story in hindi – उन दिनों Nick ने उस छोटी उम्र में इतिहास रचा था-

Nick सिर्फ 17 साल की उम्र में success की उचाईयों तक पहुंच गया था| फिर उसेक बाद Wall street of Journal ने निक को ‘Innovator of the Year’ award से नवाज़ा| निक को Apple company की तरफ से “Apple design award” भी मिला| उन दिनों निक दुनिया भर में ‘Youngest Entrepreneur’ के नाम से जाने जाते थे|

इसके बाद निक ने Hertford college, Oxford university से अपनी पढ़ाई पूरी की| निक का ये मानना है की students को छोटी उम्र से ही किताबी दुनिया से निकलकर अपने hobby, passion को पहचानना चाहिए| निक को बचपन से programming का बड़ा शौक था और इसी passion ने निक को आगे चलकर कामियाब बनाया|

Final words-

तो ये थी आज की real success story in hindi | मैं उम्मीद करता हूँ आपको पसंद आयी होगी| आज के लिए सिर्फ इतना ही| बहुत जल्द मैं आपके लिए एक और interesting article इस ब्लॉग पर लेकर आऊंगा| तब तक मेरे ब्लॉग TravelHindi.com के साथ बने रहे|

# Real life inspiration story in hindi

# Horror story in hindi

Funny Story in Hindi – ‘चोर को मात देने के लिए चोर की तरह सोचो..

Funny Story in Hindi

Funny story in hindi – नमस्कार दोस्तों, मैं अनिरुद्ध आप सभी का फिर से स्वागत करता हूँ मेरे ब्लॉग TravelHindi.com पर| दोस्तों आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ एक funny story in hindi | आज की hindi funny story आपको हँसाएगी भी और अंत में एक moral ज्ञान भी देगी|

आज की funny story in hindi में दो characters है, एक हीरे का businessman जिसका नाम आनंद है और दूसरा एक चोर है| तो चलिए शुरू करते है आज का comedy story in hindi |

Funny Story in Hindi
Funny Story in Hindi

Funny story in hindi – हीरों को चोरी करने का प्लान

दोस्तों हीरे के बिज़नेस में एक नियम होता है की जब कोई बड़ी deal कहीं पहुंचानी होती है तो कोई भरोसे वाला आदमी खुद हीरों को एक जगह से दूसरे जगह लेकर जाता है| ठीक उसी तरह आनंद जो एक हीरों का व्यापारी था दिल्ली से बैंगलोर ट्रैन में जा रहा था| Deal 10 लाख की थी इसलिए 10 लाख के हीरों को एक छोटे से hand bag में डालकर वो दिल्ली से ट्रैन पर चढ़ पड़ा|

लेकिन किसी तरह एक चोर नंदू को पता चल गया की इस सेठ के पास 10 लाख के हीरे है| वो भी gentleman के dress पहनकर उसी डिब्बे में चढ़ गया जिसमे आनंद चढ़ा था| अभी ट्रैन में चढ़ने के बाद नंदू ने जैसे तैसे आनंद सेठ से दोस्ती कर ली|

बातों बातों में आनंद सेठ को पता चल गया की नंदू चोर है क्योकि वो कहते है ना, “अति भक्ति, चोर के लक्षण”| चूँकि आनंद सेठ के मारवाड़ी businessman था इसलिए वो ऐसे चोरों के रग रग से वाकिफ था| लेकिन आनंद ने चोर को ये पता चलने नहीं दिया की वो नंदू की असलियत जान चूका है| आनंद ने तो बस ठान लिया था की किसी तरह भी इस हीरे के बैग को नंदू से बचाकर रखना है|

और दूसरी तरफ नंदू मन ही मन ये सोचता रहा की सेठ पूरी तरह से उसकी बातों में आ चूका है| अब रात को जब सेठ सोयेगा तो वो बैग साफ़ करके अगले किसी स्टेशन में उतर जायेगा|

Funny story in hindi – सेठ का नहले पर दहला

नंदू ने पूरा प्लान अपने दिमाग में बैठा लिया था| वो शाम 5 बजे अपने seat पर सो गया, ताकि रात को आराम से जागकर वो बैग साफ़ कर सके| लेकिन आनंद सेठ नंदू से एक कदम आगे की सोचता था| जब नंदू गहरी नींद में था तो उसने चुपके से हीरों का बैग नंदू के बैग में डाल दिया और आराम से बैठ गया|

रात के 9:30 बजे नंदू की नींद खुली| खाना आ चूका था| दोनों ने अपने अपने seat पर बैठकर खाना ख़तम किया| लगभग 10:30 को सेठ आनंद सो गया| जब नंदू ने देखा की सेठ गहरी नींद में है तो उसने सेठ की तलाशी शुरू की| नंदू ने सेठ की जेब देखी, बैग देखा, उसके seat की भी तलाशी ली लेकिन वो हीरे का बैग नहीं मिला| नंदू सोच में पड़ गया!

उसने फिर रात के 1 बजे तलाशी ली क्योकि उसका मन नहीं मान रहा था| क्योकि वो 9 बजे तक सो रहा था इसलिए उसको नींद भी नहीं आ रही थी और ऊपर से बैग ना ढूंढ पाने की वजह से वो मन ही मन परेशान भी हो रहा था|

Funny story in hindi – आनंद सेठ ने नंदू को मामू बनाया

थोड़ी देर बाद सोचते सोचते नंदू को नींद आ गयी| इतने में आनंद सेठ सुबह के 5 बजे उठ गया| उठकर उसने देखा की नंदू गहरी नींद में है| उसने चुपके से अपना हीरो का बैग नंदू के बैग से निकल लिया और अपने पास रख लिया|

इतने में 6 बजे नंदू भी उठ गया| नंदू ने उठकर ही आनंद सेठ को पहली नज़र में देखा| आनंद सेठ मस्त चाय की चुस्की ले रहा था| नंदू के पास एक और रात थी क्योकि कल सुबह ट्रैन बैंगलोर पहुंचने वाला था|

नंदू ने दिन भर आनंद सेठ से बात की और बातों बातों में हर एक चीज़ जानने की कोशिश की| लेकिन कुछ ख़ास जान नहीं पाया| नंदू ये सोचने लगा की कहीं उसके खबरी ने गलत information तो नहीं दी? लेकिन ऐसा कैसे हो सकता है| इस से पहले तो ऐसा कभी नहीं हुआ|

नंदू ने फिर मन ही मन ठान लिया की आज की रात वो हीरो का बैग आनंद सेठ से चुरा के रहेगा| फिर शाम होते होते नंदू जल्दी सो गया|

और दोबारा आनंद सेठ ने जब देखा की नंदू गहरी नींद में है तो उसने अपने हीरो का बैग नंदू के बैग में रख दिया| नंदू रात के 10 बजे उठा| उसने देखा आनंद सेठ रात का खाना खा रहे थे| नंदू मन ही मन ये सोच रहा था, “सेठ खा लो लजीज खाना आज आखिरी बार, कल आप रास्ते में होंगे”|

Funny story in hindi – आनंद सेठ ने दोबारा नंदू को मामू बनाया

आनंद सेठ ने मस्त खाना खाया, धकार मारी और जल्दी सो गया| आनंद सेठ के सोने के बाद नंदू ने जल्दी अपना खाना ख़तम किया और सोने का नाटक करने लगा|

ठीक रात के 12 बजे नंदू ने तलाशी शुरू कर दी| उसने हर जगह तलाश किया लेकिन वो हीरो का बैग फिर उसे नहीं मिला| वो फिर परेशान हो गया| फिर दोबारा रात के 1:30 बजे उसने ढूंढ़ना शुरू किया, लेकिन इस बार भी उसे नहीं मिला| नंदू परेशान होकर थक कर सो गया|

6 बजे आनंद सेठ उठे और चाय पीते पीते अपना बैग नंदू के बैग से निकाला| तब नंदू गहरी नींद में था| लगभग 7 बजे नंदू एकदम से उठा, और फिर पहली नज़र आनंद सेठ की ओर देखा| इस बार आनंद सेठ उसकी तरफ देख कर मुस्कुराये|

नंदू समझ गया था की आनंद सेठ उसे 2 दिनों से ट्रैन में मामू बना रहा था|

Comedy story in hindi – बैंगलोर station आ गया

ट्रैन बैंगलोर पहुंच चुकी थी, और आनंद सेठ अपना सामान पैक कर रहे थे| उतरने से पहले नंदू ने आनंद सेठ से पूछा-

नंदू – सेठ इतना तो मुझे पता चल गया है आज सुबह की आप मेरी असलियत जान चुके हो| लेकिन मुझे इतना बता दो की वो हीरो एक बैग आख़िर है कहाँ? क्योकि मेरा खबरी कभी गलत information दे ही नहीं सकता| हीरो का बैग तो आपके पास ही है!!

आनंद सेठ – तुम्हारा खबरी एकदम सही है, और इस बार भी उसने तुम्हे एकदम सही information दिया था|

फिर आनंद सेठ ने पूरी बात नंदू को बताई, कि कैसे इन 2 दिनों तक उसने नंदू को मामू बनाया| और अंत में नंदू से सिर्फ एक बात कहीं, “कभी कभी चोर को मात देने के लिए चोर कि तरह सोचना पड़ता है“|

आज की हिंदी कहानी funny भी थी और हमे बहुत कुछ सीखा भी गई| आनंद सेठ सफर के दौरान जब नंदू से बातें कर रहा था तो नंदू के अति-भक्ति nature से सेठ को doubt हुआ| ऐसी चोरी इस से पहले कई बात दिल्ली शहर में हो चुकी थी, और अख़बार में निकल भी चूका था| आनंद सेठ एक व्यापारी था इसलिए ऐसे crime खबरों के बारे में पढ़ना और जानकारी रखना बहुत पसंद करता था|

Final words-

तो दोस्तों कैसी लगी आपको ये funny story in hindi ? मैं उम्मीद करता हूँ आपको पसंद आयी होगी| ऐसी और भी hindi stories के लिए मेरे ब्लॉग TravelHindi.com के साथ बने रहे| आज के लिए सिर्फ इतना ही| मैं बहुत जल्द आपके लिए एक और नई hindi story लेकर आऊंगा|

# हिंदी कहानियाँ

Anmol Vachan in hindi for Students – हर रोज़ सुबह उठो, success आपके कदम चूमेगी

Anmol Vachan in hindi for Students

Anmol Vachan in hindi for students – नमस्कार दोस्तों, फिर से आप सभी का मैं स्वागत करता हूँ मेरे ब्लॉग TravelHindi.com पर| दोस्तों आज मैं लेकर आया हूँ anmol vachan in hindi for students | दोस्तों आज मैं कुछ ऐसे student success tips लेकर आया हूँ जिन्हें अगर कोई स्टूडेंट consistently follow करता है तो उसे हर field में success मिलेगी, चाहे वो school student हो या college student, या फिर competitive exams, sarkari naukri की तैयारी करने वाला कोई स्टूडेंट|

सिर्फ students ही नहीं बल्कि आज के मेरे ये tips उन सभी लोगो के लिए है जो अपनी ज़िन्दगी में एक कामियाब इंसान बनना चाहते है; सिर्फ पैसो की तुलना में ही नहीं बल्कि शारीरिक और मानसिक रूप से भी कामियाब; क्योकि एक बहुत बड़ी कहावत है, “health is wealth” |

आज मैं सुबह जल्दी उठने की आदत/habit पर चर्चा करने जा रहा हूँ जो हर student के लिए जरुरी है| ये एक ऐसी आदत है जिसे आज तक दुनिया के हर successful इंसान ने follow किया है तभी जाकर आज वो successful बना है चाहे वो facebook के founder Mark zuckerberg हो या फिर दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश रूस के president Vladimir putin | इन सबकी एक आदत ने आज इन्हे successful बनाया है|

चलिए मैं अपनी बात को सिद्ध करने के लिए सबसे पहले 2 videos दिखाता हूँ|

Video 1

चलिए सबसे पहला वीडियो देखते है जिसमे facebook founder Mark Zuckerberg अपने bodyguards के साथ morning jogging करते हुए नज़र आ रहे है|

source

और ये Mark के एक दिन का routine नहीं है| बल्कि ये मार्क का daily routine है| वो हर रोज़ सुबह 6 बजे से पहले उठ जाते है और अपने bodyguards के साथ morning walk पर निकल जाते है|

Video 2

चलिए दूसरा एक वीडियो देखते है जो है दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश रूस के president Vladimir Putin का| Vladimir हर रोज़ सुबह उठ कर workout करते है और फिर swimming | और ख़ास बात ये है कि ये इनके एक दिन का routine नहीं, बल्कि हर रोज़ का routine है|

source

अब आप कहेंगे की सुबह उठने का समय किसके पास है| रात भर हम students को पढ़ना पड़ता है, फिर सुबह कैसे उठ पाएंगे| तो ये आप नहीं, बल्कि आपका आलस बोल रहा है|

आप जितने भी busy students क्यों न हो जाओ लेकिन ऊपर के ये दो personalities से ज्यादा busy नहीं हो सकते| एक दुनिया का सबसे बड़ा social media platform Facebook को चलता है और दूसरा दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश को| मतलब साफ़ है की समय इन्हे नहीं बल्कि ये समय को नचाते है| इन्होने अपने आप को ऐसे तैयार किया है की ये जब चाहे, जितनी जल्दी चाहे, हर सुबह उठ सकते है| ये आदत एक दिन में नहीं बनी, बहुत मेहनत लगी, तब जाकर इन्होने अपने मन पर काबू पाया| और आज इन्हे alarm वाली घड़ी पर निर्भर रहना नहीं पड़ता!!

आपके पास भी 24 घंटे है, और इनके पास भी.. लेकिन ये ऐसा क्या करते है जिस वजह से ये आज इस मुकाम पर पहुंचे है…!!

तो चलिए आज anmol vachan in hindi में इसी पर चर्चा करते है और जानते है की सुबह उठने की एक आदत कैसे एक student को लाइफ में successful बना सकती है|

Anmol Vachan in hindi for Students
Anmol Vachan in hindi for Students

Anmol Vachan in hindi for Students

सुबह उठते ही भाग दौर मत करो, बल्कि शांत मन से उठो (Anmol Vachan in hindi for Students 1)

अक्सर students सुबह धड़ाम से उठते है, घड़ी देखते है, फिर यहाँ वहाँ भागने लगते है| Facebook, whatsapp देखने लगते है| किसका क्या msg. आया पढ़ते रहते है, good morning wish का reply देने लगते है, यहाँ तक की उन wishes को forward भी करने लगते है| पर ऐसा बिलकुल नहीं करना है| अरे मेरे भाई, दुसरो की morning good करने से पहले अपनी morning तो सही कर लो| क्यों दिमाग दौड़ा रहे हो!! कुछ नहीं होगा, ये सब करके| जिस दिन कामियाब बन गए, उस दिन से हर रोज़, हर सुबह आपके घर के बाहर good morning गुलदस्ते आएंगे| इसलिए ये सब आप free time में कर लेना| पूरा दिन पड़ा हुआ है|

आपका सुबह का mind एकदम fresh रहता है| हमेशा हर रोज़ सुबह शांत मन से उठो| उठने के बाद यहाँ-वहाँ मत भागो, यहाँ-वहाँ की मत सोचो| आराम से उठो, छत पर जाओ या खुले मैदान में जाओ और nature को महसूस करो, सुबह की पहली किरण को देखो, चिड़ियों के चहकने की आवाज़ को सुनो, फिर अपने अंदर झाकने की कोशिश करो| मैं guarantee से बोल सकता हूँ आप बहुत ज्यादा fresh महसूस करोगे, इस एक habit से रोज़ाना आपका mind enrich (समृद्ध) होगा|

आपका mind जितना fresh रहेगा, धीरे धीरे आपके मन में positive विचार आएंगे| आपके body की सारी एनर्जी centralized होगी, ठीक जैसे बड़े बड़े offices में central A.C. लगे हुए होते है| ठंडा एक जगह होता है और फिर हर room तक fans/ducts के जरिये पहुंचाया जाता है| आपके mind में एनर्जी generate होगी और पुरे दिन नसों के जरिये पुरे body में फैलेगी|

इसलिए कल से हर सुबह उठने के बाद Silence, relax और nature के साथ घुलना|

Revision – सुबह का revision बहुत powerful है (Anmol vachan for students 2)

एक स्टूडेंट के लाइफ में Revision एक revolutionary शब्द है| आप चाहे जितना भी पढ़ लो, दिन के 10 घंटे या 12 घंटे, या चाहे एक दिन में पूरी एक किताब; लेकिन अगर आपके अंदर revision की quality नहीं है तो आपने जो पढ़ा सब zero है|

Revision का भी एक नियम होता है| आपने आज जो पढ़ा, उसे अगर आप 1 महीने बाद revise करोगे; तो ये पूरी तरह से गलत theory है| अगर आप स्टूडेंट हो तो revision करने का एक success मंत्र मैं आपको बता देता हूँ-

आपने आज जो नया chapter पढ़ा उसे, कल revise जरूर करना| फिर 3 दिन बाद दोबारा revise करना| फिर आपको एक बार और उसी chapter को 10 दिन बाद revise करना पड़ेगा| इसे 3 tier cycle कहते है जिसे लगभग हर successful student follow करता है| इस तरह से आप जो भी नया पढ़ो उसे इसी cycle के अनुसार repeat करते रहना| असर आपको अगले exam में दिख जायेगा!!

अक्सर सुबह का समय revision के लिए उपयुक्त होता है, क्योकि इस समय हमारा mind fresh रहता है; ठीक उसी तरह जैसे नया computer format किया गया हो| एक झटके में files copy हो जाती है, internet से डाउनलोड भी fast होता है, और पूरा कंप्यूटर fast चलता है| हर सुबह हमारा दिमाग format किये गए कंप्यूटर की तरह होता है| इसलिए इस समय आप जो भी अपने दिमाग में डालोगे वो झट-पट काम करेगा|

शायद आप इस बात से भी परिचित हो को गुरुकुल में सुबह 4 बजे से उठकर शास्त्रों का ज्ञान लिया जाता था, और ये परंपरा आज भी कायम है| इसलिए सुबह जल्दी उठो, और 9 बजे से पहले समय को सही जगह utilize करो|

ये success मंत्र सिर्फ students के लिए ही नहीं बल्कि बाकी लोगो पर भी apply होता है| आप चाहे बिज़नेस करते हो, किसी private company में जॉब करते हो, या फिर आप एक housewife हो; आप सुबह के इस समय में अपने महत्वपूर्ण कार्यों को करे; आप पूरी energy के साथ कर पाएंगे|

धीरे धीरे Pace पकड़ो, दौड़ना नहीं है (Anmol vachan in hindi for students 3)

सुबह उठने के बाद अक्सर students बड़े बड़े goal set कर लेते है| आज ये chapter पढूंगा चाहे कुछ भी हो जाए, आज 8 घंटे तो जरूर पढूंगा, इत्यादि| क्यों भाई, आज ही सब ख़तम करना है, कल जंग पर जाना है क्या?

ऐसे students सोच तो बहुत कुछ लेते है लेकिन 3 से 4 घंटों के बाद उनकी energy ख़तम हो जाती है| अरे मेरे भाई पूरा दिन पड़ा है| पहले प्लान बना लो, फिर धीरे धीरे शुरू करो| बस pace पकड़ना है, दौड़ना नहीं है|

1500 मीटर का race कभी देखे हो| जो असली खिलाड़ी होते है वो धीरे धीरे शुरू करते है| शुरुवात में वो सिर्फ pace को पकड़ कर रखते है और last round में असली दौड़ देते है| एग्जाम के एक महीने पहले 1500 मीटर का दौड़ नहीं देना है| बल्कि पुरे साल धीरे धीरे pace पकड़ कर रखना है, एग्जाम से पहले revision करना है और एग्जाम आपका|

ठीक ऐसे ही रात रात भर पढ़कर, और सुबह सो कर कुछ नहीं होगा| एक routine बनाओ| सुबह जल्दी उठो, दिमाग को energize करो| फिर पुरे दिन की study को छोटे छोटे हिस्सों में बाट लो| आपको पढ़ाई के साथ साथ खेल-कूद को समय देना है, दोस्तों को समय देना है|

लेकिन यहाँ होता सब उल्टा है| हम पढ़ाई के समय दोस्तों को समय देते है| दोस्तों को समय देने के समय सोते है| और जब रात को सोना चाहिए तब पढ़ते है| इसलिए कल से रोज़ सुबह जल्दी उठो और पुरे दिन का प्लान छोटे छोटे हिस्सों में बाट लो!!

सुबह सुबह mind को self positive affirmation दो (Anmol vachan for students in hindi)

शायद आपने ये बात सुनी होगी की जो आप सोचते हो वो आप बोलते हो, जो आप बोलते हो आप उसी पर काम करने लग जाते हो, और फिर ठीक वही होने लगता है| Self affirmation भी कुछ इसी तरह से काम करता है| ये एक psychological trick है जिसकी मदद से आप अपने जीवन में कुछ भी हासिल कर सकते हो|

हर field में अपना एक positive affirmation होता है| अगर आप बिज़नेस में हो तो उसके लिए business positive affirmation होते है जिन्हे बोलकर या सुनकर आप अपने दिमाग को बिज़नेस में positive रहने के लिए train करते हो| ठीक उसी तरह money affirmation भी होते है जिस से आप अपने mind को कुछ इस तरह से train करते हो जिस से आप पैसे कमाने को लेकर positive रहोगे| ठीक उसी तरह health positive affirmation भी होते है जिस से आपके mind को हमेशा healthy रहने की तरफ train किया जायेगा|

ठीक उसी तरह पढ़ाई में भी self affirmation होते है जिनसे आपके mind को कुछ इस तरह से train किया जायेगा जिस से आप पढ़ाई की तरफ हमेशा positive सोचोगे| और जो सोचोगे, उसी पर काम करोगे, और रिजल्ट भी positive होगा| इसी को तो कहते है law of attraction !

इन self affirmation को बोलने का या सुनने का सबसे बेस्ट टाइम है रात को सोने से पहले या सुबह 6 बजे से पहले| तो क्या आप सुनना चाहेंगे क्या है study self positive affirmation? निचे दिए गए वीडियो को headphone लगाकर play करे और ध्यान से सुने; और साथ साथ बोलने की कोशिश करे|

source

चलिए एक और example देखते है| ये positive self affirmation self confidence बढ़ाने के लिए है| निचे दिए गए video को play करे और headphone के साथ सुने|

source

Final words-

इस तरह हर दिन सुबह जल्दी उठने की आदत डाले और ऊपर बताये गए tips को follow करे| आपको धीरे धीरे improvement नज़र आने लगेगा| तो ये थे आज के anmol vachan in hindi for students | मैं उम्मीद करता हूँ ये anmol vachan आपके लिए मददगार साबित होंगे| आज के लिए सिर्फ इतना ही, ऐसे और भी amazing articles मैं आपके लिए यहाँ लाते रहूँगा| तब तक मेरे ब्लॉग TravelHindi.com के साथ बने रहे|

– अनिरुद्ध

# Amazing facts in hindi

# Stories in hindi

Horror story in Hindi – “Call center का coffee machine…” PART 1

Bhayanak horror story in hindi

Horror story in Hindi – नमस्कार दोस्तों, फिर से आपका स्वागत है TravelHindi.com पर| आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ एक horror story in hindi जो एक call center की है| आज की horror story एक कॉल सेंटर की है जिसमे सुधा नौकरी करती थी| जैसे की headline में आपने पढ़ा आज के hindi horror story का नाम है “Call center का coffee machine”, क्योकि आज की कहानी उसी कॉफ़ी मशीन से जुड़ी है जो ‘Avinak Infotech Ltd.’ नामक call center में है जहाँ सुधा ने एक सप्ताह पहले join किया था|

हम सब जानते है की कॉल सेंटर में अक्सर नाईट शिफ्ट रहती है| सुधा भी शाम 7 बजे अपने शिफ्ट के लिए निकल रही थी| वैसे तो उसका day shift ही रहता है लेकिन सामने financial year आने वाला था इसलिए work load थोड़ा ज्यादा था| वो अपने दोस्त ऋतू के घर पहुंची, फिर वहां से ऋतू को अपने scooty में लेकर ऑफिस के लिए निकली| कॉल सेंटर घर से 15 minutes की दुरी पर ही था| सुधा और ऋतू हमेशा एक साथ ऑफिस के लिए निकलते है|

ऋतू और सुधा एक ही कॉलोनी में रहते थे| ऋतू उस कॉल सेंटर में 6 महीने से काम कर रही थी और सुधा ने हाल ही में 7 दिन पहले कॉल सेंटर ज्वाइन किया था| आज सुधा का पहला night shift था|

दोनों scooty में बात करते जा रहे थे-

ऋतू – जल्दी चला सुधा!! बॉस चिलायेगा|

सुधा – यार आज पहली night shift है इसलिए घर में सब परेशान है|

ऋतू – अब क्या बोली आंटी| कल मैंने सब कुछ समझा तो दिया| अच्छा ऑफिस चल, वहां से तू लगाना फ़ोन घर में| मैं आंटी से एक बार ओर बात कर लूंगी|

सुधा – अच्छा ऋतू एक बात बता!! यहाँ नाईट शिफ्ट का माहौल कैसा है?

ऋतू – सब कुछ same है day shift की तरह| काम भी same, बॉस भी same, उसका गुस्सा भी same!! haa.. haa haa haa !!!

सुधा – सुधा भी ज़ोर ज़ोर से हसने लगती है| haa haa ha… haaa!

ऋतू – पर हां यार!! नाईट शिफ्ट में day के मुकाबले break काफी मिल जाते है| पर पता नहीं इस बार का work load कितना रहेगा?

सुधा – अच्छा!!

ऋतू – पर एक बात का ध्यान रखना| काम के बीच अगर बाहर जाने को रहेगा तो मुझे एक बार बता जाना| नई जगह है तेरे लिए और वो भी नाईट शिफ्ट!!

फिर दोनों ऑफिस पहुंच जाते है|

सुधा – ऋतू तू ऊपर चल, मैं पार्क कर के आती हूँ|

ऋतू – जल्दी आ!!

Bhayanak horror story in hindi
Bhayanak horror story in hindi

Horror story in Hindi – क्या ये सुधा का आखिरी शिफ्ट होगा?

ऑफिस में जाते ही सुधा ने देखा काम शुरू हो चूका था| बॉस अमित कुमार ने सबको 15 minutes में मीटिंग हॉल में बुलाया है|

सुधा – यार ऋतू, अब ये किस बात पर चर्चा करेगा| सारी बातें तो हो गयी| किसको क्या ड्यूटी मिलेगा ये तो पहले ही ठीक हो चूका है| कही ये दोबारा शिफ्ट चेंज तो नहीं करेगा|

ऋतू – अरे नहीं यार.. तू हमेशा नेगेटिव बातें ही क्यों करती है!! अच्छा सुन तू कल वाले सारे files scan कर ले और मीटिंग रूम में पहुंच| मैं एक बार team के साथ बैठती हूँ| पता तो चले किस बात पर मीटिंग हो रही है|

दरअसल इस कॉल सेण्टर के 2 floors है| निचे वाले floor पर seniors बैठते है और ऊपर वाले floor पर new freshers | अब ऐसे में ऋतू निचे वाले फ्लोर में रहेगी और सुधा को ऊपर वाले फ्लोर पर training के लिए जाना पड़ेगा| मीटिंग में इसी बात पर चर्चा हुई|

मीटिंग रूम से निकलने के बाद ऋतू ने सुधा को एक कोने में बुलाया और कहा|

ऋतू – अच्छा सुन सुधा| तू ऊपर जा और session शुरू कर| कुछ प्रॉब्लम हुआ तो मैं निचे फ्लोर में हूँ| और हां, coffee पिने को रहेगा तो निचे आ जाना|

सुधा को coffee पिने की लत थी| जब भी सुधा ऋतू के घर जाती थी तो वो ऋतू के वहां 2 से 3 cup कॉफ़ी पीती थी और घंटो बैठे दोनों गप-शप करते थे|

लेकिन ऊपर वाले फ्लोर पर तो coffee machine है, फिर ऋतू ने निचे वाले फ्लोर पर क्यों बुलाया| सुधा ने सोचा, शायद break में दोनों एक साथ बैठकर कॉफ़ी पिएंगे, गप-शप करेंगे| इससे work pressure थोड़ा कम होगा और फिर दोबारा अपने अपने floor पर चले जायेंगे|

लेकिन असल में बात कुछ और थी| ऊपर वाले फ्लोर के कॉफ़ी मशीन के राज़ के बारे में ऋतू ने सुधा को नहीं बताया, क्योकि सुधा बहुत जल्द घबरा जाती थी| और वैसे भी ऊपर का फ्लोर बंद था| लेकिन freshers training के लिए बॉस अमित ने एकदम से मीटिंग में ये आर्डर दिया| तो क्या था राज़ ऊपर वाले फ्लोर में मौजूद कॉफ़ी मशीन का?

Bhayanak horror story in hindi – सुधा के 2nd floor में जाने के बाद

चूँकि सुधा का सिर्फ इस नए ऑफिस में 7 दिन हुए थे इसलिए उसे fresher trainee के हिसाब से रखा गया था| सुधा ने इंटरव्यू के दौरान बॉस अमित से ये request भी की थी कि सुधा को trainee के तौर पर ऋतू के टीम में रखा जाये| लेकिन बॉस अमित ने ऐसा नहीं किया| इस वजह से ऋतू और सुधा बॉस अमित को कभी कभी खड़ूस भी बुलाते थे और जोक्स बनाकर अपने में हस्ते थे| पर बॉस अमित था बहुत serious बंदा| वो सिर्फ कंपनी के काम से मतलब रखता था|

सुधा अपने fresher trainee टीम के साथ 2nd floor में जाती है| रूम पिछले दिन ही खोला गया था और थोड़ी बहुत साफ़ सफाई की गयी थी| Computer का पूरा system तो वहां पहले से मौजूद था लेकिन काम बंद था| इस नए freshers batch के लिए वहां training की व्यवस्था की गयी थी|

सुधा के टीम का लीडर (TL) रोहन था जो ऋतू का अच्छा दोस्त था| और ऋतू ने रोहन को सुधा से introduce भी करवा दिया था और कहा था training अच्छे से करवा देना|

इस टीम में कुल 7 जान थे जो 2nd floor में बैठे थे| 2nd floor में कुल 3 रूम थे| एक main training hall (Room 1) और बाकी के extra दो रूम, Room 2 and Bathroom | Room 1 (training hall) में घुसने के बाद सुधा वहां लगे पुराने कंपनी के performance chart को देखने लगी| फिर उसकी नज़र एक रूम के दरवाज़े पर पड़ी जिसमे Room 2 और coffee Room लिखा था लेकिन उसे काटकर उसपर ‘No entry’ लिखा गया था| सुधा training रूम से निकलकर उस रूम 2 की तरफ बढ़ी की तभी team leader रोहन ने पीछे से आवाज़ दी, “सब earphone के साथ system में बैठ जाए और instructions को ध्यान से follow करे”|

सुधा ने ये सुनते ही दोबारा main ट्रेनिंग हॉल की तरफ बढ़ी और अंदर जाकर अपने system पर बैठ गयी| लेकिन सुधा का मन अभी भी उस room 2 की तरफ ही था क्योकि वहां सुधा का favourite drink coffee उसका इंतज़ार कर रहा था| सुधा ने सोचा की coffee लेकर ही काम पर बैठा जाए तो training अच्छे से होगी|

Final words-

दोस्तों इसके बाद सुधा के साथ क्या क्या हुआ, क्या सुधा उस room 2 में गई, क्या उसने वहां coffee पिया, क्या है उस कॉफ़ी मशीन का राज़; इन सब के बारे में हम इस horror story in hindi के PART 2 में जानेंगे| Part 2 मैं बहुत जल्द publish करूँगा| Publish करते ही उसका link मैं यहाँ mention कर दूंगा| तब तक आप मेरे ब्लॉग TravelHindi.com के साथ बने रहे|

– अनिरुद्ध

Real Life Inspirational story in hindi – कैसे एक housewife ने खड़ा किया 10 crore का बिज़नेस

Real Life Inspirational story in hindi

Real Life Inspirational story in hindi – नमस्कार दोस्तों, फिर से आप सभी का स्वागत है मेरे ब्लॉग TravelHindi.com पर| दोस्तों मैं अनिरुद्ध, हमेशा अपने readers के लिए अलग और unique stories लेकर आता हूँ जो अनसुनी हो और interesting हो| दोस्तों आज hindi stories में मैं आपके लिए लेकर आया हूँ एक real life inspirational story in hindi | आज की हिंदी स्टोरी आपको motivate भी करेगी और इस बात को सिद्ध भी करेगी की महिलाएं सच में सब कुछ कर सकती है!!

आज की ये hindi motivational story एक real life story है जो Jyoti Wadhwa की है जो एक housewife है, और इन्होने मात्र 50,000 के investment के साथ आज एक 10,000 crore turnover की कंपनी खड़ी कर दी है जिसका नाम है Sanskriti Vintage, जो आज एक popular online साड़ी eCommerce स्टोर है| तो चलिए पढ़ते है आज की real life inspirational story in hindi |

Real Life Inspirational story in hindi
Real Life Inspirational story in hindi

Real Life Inspirational story in hindi – कौन है Jyoti Wadhwa?

ज्योति ने जब इस बिज़नेस की नींव रखी थी तब वो एक housewife और दो साल के बच्ची की माँ थी| तब ज्योति के husband Anshul Bansal ही एक मात्र घर में कमाने वाले member थे| एक दिन Anshul ने ज्योति से कहा की वो अपने present job को छोड़कर अपना खुद का कुछ करना चाहते है|

इस अवस्था में ज्योति ने घर चलाने को लेकर अपनी चिंता व्यक्त की, और अपना खुद का कुछ शुरू करने का थान लिया ताकि वो भी घर के खर्चे में अपना योगदान कर सके| शादी के पहले तक ज्योति एक MNC कंपनी में HR Admin के तौर पर काम भी कर चुकी थी|

ज्योति के पास सिर्फ 50,000 रूपये बिज़नेस में invest करने के लिए थे| ये एक ऐसी स्तिथि थी जिसमे ज्योति को एक ऐसे बिज़नेस में उतरना था जिसमे profit की guarantee जरुरी था|

Real Life Inspirational story in hindi – कैसे किया ज्योति ने शुरू?

एक तरफ ज्योति के husband Anshul अपने IT company को स्टार्ट करने में लगे थे और दूसरी तरह ज्योति market research कर में लगी थी| वो रोज़ market research करने के लिए घूमती थी और ये जानने की कोशिश करती थी की मार्किट में क्या पॉपुलर चल रहा है|

अपने रिसर्च के दौरान ज्योति ने मार्किट में printed साड़ी, fabric साड़ी, handcrafted साड़ी, जैसे items का craze काफी ज्यादा पाया और decide किया की वो इसी बिज़नेस में उतरेंगी| लेकिन इसके साथ ज्योति ने एक और कठिन decision लिया और वो था वो selling online करेंगी| और फिर उन्होंने अपना एक online brand बनाया जिसका नाम रखा Sanskriti Vintage |

Real Life Inspirational story in hindi – मुश्किल सफर शुरू हो चूका था!

ज्योति ने online selling के लिए eBay को चुना, जो उन दिनों काफी popular था| शुरुवाती दिनों में ज्योति खुद साड़ी को eBay में list करती थी और order booking, postal/courier booking भी खुद करती थी| ज्योति को कभी कभी ऐसे दिन भी देखने पड़े थे जब वो order shipping book करते समय अपनी बेटी के साथ लम्बे लाइन में खड़ी रहती थी|

Motivation we get – बिज़नेस का पहला पड़ाव struggle है और दूसरा पड़ाव लाखों का profit..! दूसरे पड़ाव तक पहुंचने के लिए पहला पड़ाव पार करना ही पड़ेगा|

Motivational story in hindi for success – ज्योति ने हमेशा कुछ अलग किया!

ज्योति हमेशा कुछ अलग और unique करना चाहती थी इसलिए उन्होंने market में चल रहे trend से थोड़ा अलग सोचा| उन दिनों printed, silk fabric साड़ी का काफी craze था लेकिन handcrafted साड़ी में competition काफी low था|

दूसरी बात ये थी की, उन दिनों eBay में item list करने के लिए लोग 200 रुपये की साड़ी खरीदते थे और उसे एक छोटे margin 400 रुपये में list करते थे| Listing करने के लिए उन्हें साड़ी के फोटो की जरुरत पड़ती थी इसलिए वो 2 से 4 mega pixel camera से फोटो click करते थे|

लेकिन ज्योति ने हमेशा premium और standard सोचा| ज्योति ने handcrafted साड़ी को main बिज़नेस product बनाया और फोटो खेंचने के लिए high pixel DSLR कैमरा का प्रयोग किया|

Businessman success story in hindi – ज्योति का प्लान काम कर गया!

ज्योति ने हमेशा हर चीज़ अच्छी quality और अच्छे standard के साथ शुरू की और इस वजह से उनकी साड़ी online $20 से $40 तक sell होती थी| धीरे-धीरे ज्योति ने ज़माने के साथ अपने बिज़नेस को भी बदला| जब Amazon India में नई-नई आयी थी तब amazon पर jewellery का काफी craze था| ज्योति ने इस opportunity को भी अपने हाथ से जाने नहीं दिया|

Women real life inspirational story in hindi – ज्योति ने बिज़नेस के दांव-पेंच सिख लिए थे

ज्योति ने Amazon में भी अपने jewellery products को sell करने के बारे में सोचा और एक नया jewellery brand बना डाला जिसका नाम था Zephyrr | और ख़ास बात ये है की कुछ ही दिनों में Zephyrr amazon पर best seller भी बन गया|

Real life inspirational story in hindi – ज्योति के achievements

आज ज्योति की कंपनी सालाना 10 crores का turnover देती है| आज ज्योति 30 लोगो के एक टीम के साथ काम करती है जिसमे अधिकतर महिलाएं शामिल है|

साल 2015 में राष्ट्रपति द्वारा ज्योति को ‘Niryat shree award‘ भी मिल चूका है|

इस hindi success story से हमने क्या सीखा?

इस स्टोरी से मुझे personally कुछ बातें सिखने को मिली जो मैं आपके साथ जरूर शेयर करना चाहूंगा| ज्योति ने बिज़नेस शुरू करने से पहले market research बहुत किया था| बहुत से products के बारे में जानकारी प्राप्त की थी| मार्किट में fabric silk साड़ी, printed साड़ी का craze चल रहा था, लेकिन ज्योति ने handcrafted साड़ी को अपना main product बनाया| इसका मतलब साफ़ है की बिज़नेस के लिए सूझ-बुझ बहुत जरुरी है|

दूसरी बात eBay में success पाने के बाद भी ज्योति चुप-चाप नहीं बैठी| ज्योति ने Amazon के साथ भी अपने business को आजमाया जो उस समय इंडिया में नया आया था| और amazon में साड़ी वाले concept के साथ ना जाकर ज्योति ने jewellery के साथ बिज़नेस किया जो उन दिनों trend में था| मतलब बिज़नेस में success पाने के लिए ज़माने के trend के साथ चलना पड़ेगा|

Final words-

तो दोस्तों ये थी आज की true real life inspirational story in hindi | उम्मीद करता हूँ आपको ये hindi motivational story पसंद आई होगी और आप जरूर motivate हुए होंगे| ऐसे और भी interesting stories in hindi के लिए मेरे ब्लॉग TravelHindi.com के साथ बने रहे| आज के लिए इतना ही!!

– अनिरुद्ध

# हिंदी कहानियाँ

# Best places to visit in Mumbai

# Best honeymoon places in India

Horror story in hindi – मंदिर का रहस्यमयी दरवाज़ा और तैखना

horror story in hindi

Horror story in hindi – नमस्कार दोस्तों, मैं अनिरुद्ध आप सभी का फिर से स्वागत करता हूँ मेरे ब्लॉग TravelHindi.com पर| दोस्तों आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ amazing story in hindi | इसे स्टोरी ना कहकर सत्य घटना कहना और ज्यादा सही होगा| जो भी हो story कहिए या फिर amazing facts ये स्टोरी काफी चौकाने वाली है|

दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने वाला हूँ जिसके तैखाने के पीछे बहुत से राज़ छुपे है| इस मंदिर का दरवाज़ा रहस्यमयी facts के साथ जुड़ा है| दोस्तों आज मैं आपको जिस मंदिर के बारे में बताने जा रहा हूँ उसका नाम है Sree Padmanabha Swamy मंदिर जो Thiruvananthapuram, Kerala में स्तिथ है| तो चलिए जानते है क्या horror छुपा हुआ है इस मंदिर में!!

horror story in hindi
horror story in hindi

Amazing story in hindi – Sree Padmanabha Swamy Temple Amazing fact

भारत के केरल राज्य में स्तिथ ये मंदिर दुनिया के सबसे पुरानी और रहस्यमयी मंदिरों में से एक है| ये दुनिया के सबसे अमीर मंदिर में से भी एक है, और इसके साथ साथ इस मंदिर में एक ऐसी रहस्यमयी चीज़ है जो इस मंदिर को बाकी मंदिरों से अलग करती है|

लोगो का ये दशकों से मानना था की इस मंदिर के निचे बहुत सारा सोना मौजूद है| इस मंदिर में कई रहस्यमयी chambers (तहखाना) मौजूद थे जिन्हे कभी खोला नहीं गया था| और बाद में खोज के बाद ये पता चला की यहाँ कुल 7 chambers (तहखाना) मौजूद है| कोई ये नहीं जानता था की इन् chambers के अंदर क्या है|

Story in hindi – क्या है पूरी बात?

साल 2011 में supreme court के आदेश पर इन् chambers को एक एक करके खोला गया| 6 chambers को खोलने के बाद जो अंदर मिला उसने दुनिया को हीला कर रख दिया| उन chambers में अरबों का खज़ाना पाया गया| इनमे से पुराने सिक्के, तिजोरी, अलग अलग किस्म की मूर्तियां, सोने की जंजीरे, भगवान की सोने की मूर्ति और ऐसे कई सोने की चीज़े निकली| और चौकाने वाली बात ये है की इन् खजानो की कीमत अरबों में नहीं बल्कि खरबों में है|

इस राज़ के खुल जाने के बाद दुनिया आर्श्यचकित थी| जैसा लोगो ने इस मंदिर के बारे में सोचा था ठीक वैसा ही हुआ| मतलब किताबो में हम जिन ख़ज़ानों के बारे में कहानियाँ पढ़ते थे अब वो हकीकत सच में सबके सामने था|

Story in hindi – ये सिलसिला सिर्फ यही तक नहीं था

अब तक सिर्फ 6 chambers ही खुले थे लेकिन 7th chamber अभी खुलना बाकि था| 7th chamber के बारे में किसी ने बात ही नहीं की| 7th चैम्बर जिसे Vault-B के नाम से जाना जाता था, वो भी बाकी चैम्बर जैसा ही था| ये चैम्बर कुछ ज्यादा ही रहस्यमयी है| इसके दरवाज़े में दो सांप बने हुए है और लोगो के हिसाब से ये एक warning है जो कहती है की इस दरवाज़े को कोई भी खोलने की कोशिश ना करे| ये दोनों सांप उस दरवाज़े की रक्षा कर रहे है|

एक और ख़ास बात इस दरवाज़े में ये है कि इसमें न ही कोई चाबी कि छेद है और ना ही ऐसी कोई व्यवस्था जिसकी मदद से कोई इस दरवाज़े को खोल पाए| मतलब ये 7th chamber का दरवाज़ा कुछ इस तरह का दरवाज़ा है जिसे कोई normally नहीं खोल सकता|

लेकिन हाँ इस दरवाज़े को एक धार्मिक रीति रिवाज़ो से एक मन्त्र द्वारा खोला जा सकता है| लेकिन ये सबके बस कि बात नहीं है| इसे वही आदमी धार्मिक रीति रिवाज़ो से खोल सकता है जिसकी ध्यान और मन कि शक्ति दुसरो से अलग हो और श्रेष्ठ हो| इसके साथ साथ ये भी कहा गया है कि इस दरवाज़े को जो भी खोलने की कोशिश करेगा उसे एक बड़ा शाप लग जायेगा| इस वजह से ऐसा कोई आदमी मिला ही नहीं जो इस दरवाज़े को खोलने की हिम्मत कर सके|

Story in hindi – इसके पहले भी एक बार निकल चूका है कोबरा सांप-

कहा जाता है की साल 1908 में पहले दरवाज़े (Chamber 1) को खोलने की कोशिश की गयी थी लेकिन एक कोबरा सांपो का झुण्ड उनके सामने आ गया था| फिर साल 1931 में दोबारा दरवाज़े को खोलने की कोशिश की गई| इस बार वो लोग दरवाज़े को खोलने में कामयाब रहे| और दरवाज़ा खुलने के बाद उस चैम्बर के अंदर से निकला सोने का खज़ाना| फिर उसके बाद 2011 को बाकी के दरवाज़ों को खोला गया लेकिन ये 7th chamber का दरवाज़ा आज तक खोला नहीं गया|

पर सवाल फिर वही पर आ कर खड़ा हो जाता है की आखिर इस 7th chamber के दरवाज़े का क्या राज़ है जो आज तक एक रहस्य है!!

Horror story in hindi – कोशिश आज भी जारी है –

Indian govt इस 7th दरवाज़े को खोलने की कोशिश कर रही थी लेकिन मंदिर के भक्तों ने govt के इस काम पर रोक लगाना चाहा और court में appeal भी किया| मंदिर के लोग और भक्त ये नहीं चाहते थे की कोई 7th दरवाज़ा जबरदस्ती खोले|

दरअसल बात ये थी की मंदिर के लोगो ने एक धार्मिक रस्म-रिवाज़ किया था जिसका नाम था ‘देवप्रश्नम’| इसके अंतर्गत वो लोग ईश्वर से खुद पूछते है कि वो क्या चाहते है! क्या इस दरवाज़े को खोला जाये या नहीं| लेकिन देवप्रश्नम के बाद लोगो को पता चला की देवता भी नहीं चाहते थे कि ये दरवाज़ा खुले| लोगो का ये भी कहना है कि अगर फिर भी इस दरवाज़े के साथ छेड़-छाड़ किया गया तो ये बहुत खतरनाक हो सकता है, प्रलय आ सकता है, चारो तरफ तबाही आ सकता है| इसलिए ये रहस्य आज तक एक रहस्य है|

पूरी जानकारी के लिए India TV की इस report को देखे – (Play the video) –

source

Final words-

दोस्तों आज के लिए सिर्फ इतना ही| बहुत जल्द मैं आपके लिए एक और interesting horror story in hindi लेकर आऊंगा| तब तक मेरे ब्लॉग TravelHindi.com के साथ बने रहे|

# Best waterfalls in India

# Best places to visit in Mysore

# Famous temples in India