Bhayanak horror story in hindi

Horror story in Hindi – “Call center का coffee machine…” PART 1

Horror story in Hindi – नमस्कार दोस्तों, फिर से आपका स्वागत है TravelHindi.com पर| आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ एक horror story in hindi जो एक call center की है| आज की horror story एक कॉल सेंटर की है जिसमे सुधा नौकरी करती थी| जैसे की headline में आपने पढ़ा आज के hindi horror story का नाम है “Call center का coffee machine”, क्योकि आज की कहानी उसी कॉफ़ी मशीन से जुड़ी है जो ‘Avinak Infotech Ltd.’ नामक call center में है जहाँ सुधा ने एक सप्ताह पहले join किया था|

हम सब जानते है की कॉल सेंटर में अक्सर नाईट शिफ्ट रहती है| सुधा भी शाम 7 बजे अपने शिफ्ट के लिए निकल रही थी| वैसे तो उसका day shift ही रहता है लेकिन सामने financial year आने वाला था इसलिए work load थोड़ा ज्यादा था| वो अपने दोस्त ऋतू के घर पहुंची, फिर वहां से ऋतू को अपने scooty में लेकर ऑफिस के लिए निकली| कॉल सेंटर घर से 15 minutes की दुरी पर ही था| सुधा और ऋतू हमेशा एक साथ ऑफिस के लिए निकलते है|

ऋतू और सुधा एक ही कॉलोनी में रहते थे| ऋतू उस कॉल सेंटर में 6 महीने से काम कर रही थी और सुधा ने हाल ही में 7 दिन पहले कॉल सेंटर ज्वाइन किया था| आज सुधा का पहला night shift था|

दोनों scooty में बात करते जा रहे थे-

ऋतू – जल्दी चला सुधा!! बॉस चिलायेगा|

सुधा – यार आज पहली night shift है इसलिए घर में सब परेशान है|

ऋतू – अब क्या बोली आंटी| कल मैंने सब कुछ समझा तो दिया| अच्छा ऑफिस चल, वहां से तू लगाना फ़ोन घर में| मैं आंटी से एक बार ओर बात कर लूंगी|

सुधा – अच्छा ऋतू एक बात बता!! यहाँ नाईट शिफ्ट का माहौल कैसा है?

ऋतू – सब कुछ same है day shift की तरह| काम भी same, बॉस भी same, उसका गुस्सा भी same!! haa.. haa haa haa !!!

सुधा – सुधा भी ज़ोर ज़ोर से हसने लगती है| haa haa ha… haaa!

ऋतू – पर हां यार!! नाईट शिफ्ट में day के मुकाबले break काफी मिल जाते है| पर पता नहीं इस बार का work load कितना रहेगा?

सुधा – अच्छा!!

ऋतू – पर एक बात का ध्यान रखना| काम के बीच अगर बाहर जाने को रहेगा तो मुझे एक बार बता जाना| नई जगह है तेरे लिए और वो भी नाईट शिफ्ट!!

फिर दोनों ऑफिस पहुंच जाते है|

सुधा – ऋतू तू ऊपर चल, मैं पार्क कर के आती हूँ|

ऋतू – जल्दी आ!!

Bhayanak horror story in hindi
Bhayanak horror story in hindi

Horror story in Hindi – क्या ये सुधा का आखिरी शिफ्ट होगा?

ऑफिस में जाते ही सुधा ने देखा काम शुरू हो चूका था| बॉस अमित कुमार ने सबको 15 minutes में मीटिंग हॉल में बुलाया है|

सुधा – यार ऋतू, अब ये किस बात पर चर्चा करेगा| सारी बातें तो हो गयी| किसको क्या ड्यूटी मिलेगा ये तो पहले ही ठीक हो चूका है| कही ये दोबारा शिफ्ट चेंज तो नहीं करेगा|

ऋतू – अरे नहीं यार.. तू हमेशा नेगेटिव बातें ही क्यों करती है!! अच्छा सुन तू कल वाले सारे files scan कर ले और मीटिंग रूम में पहुंच| मैं एक बार team के साथ बैठती हूँ| पता तो चले किस बात पर मीटिंग हो रही है|

दरअसल इस कॉल सेण्टर के 2 floors है| निचे वाले floor पर seniors बैठते है और ऊपर वाले floor पर new freshers | अब ऐसे में ऋतू निचे वाले फ्लोर में रहेगी और सुधा को ऊपर वाले फ्लोर पर training के लिए जाना पड़ेगा| मीटिंग में इसी बात पर चर्चा हुई|

मीटिंग रूम से निकलने के बाद ऋतू ने सुधा को एक कोने में बुलाया और कहा|

ऋतू – अच्छा सुन सुधा| तू ऊपर जा और session शुरू कर| कुछ प्रॉब्लम हुआ तो मैं निचे फ्लोर में हूँ| और हां, coffee पिने को रहेगा तो निचे आ जाना|

सुधा को coffee पिने की लत थी| जब भी सुधा ऋतू के घर जाती थी तो वो ऋतू के वहां 2 से 3 cup कॉफ़ी पीती थी और घंटो बैठे दोनों गप-शप करते थे|

लेकिन ऊपर वाले फ्लोर पर तो coffee machine है, फिर ऋतू ने निचे वाले फ्लोर पर क्यों बुलाया| सुधा ने सोचा, शायद break में दोनों एक साथ बैठकर कॉफ़ी पिएंगे, गप-शप करेंगे| इससे work pressure थोड़ा कम होगा और फिर दोबारा अपने अपने floor पर चले जायेंगे|

लेकिन असल में बात कुछ और थी| ऊपर वाले फ्लोर के कॉफ़ी मशीन के राज़ के बारे में ऋतू ने सुधा को नहीं बताया, क्योकि सुधा बहुत जल्द घबरा जाती थी| और वैसे भी ऊपर का फ्लोर बंद था| लेकिन freshers training के लिए बॉस अमित ने एकदम से मीटिंग में ये आर्डर दिया| तो क्या था राज़ ऊपर वाले फ्लोर में मौजूद कॉफ़ी मशीन का?

Bhayanak horror story in hindi – सुधा के 2nd floor में जाने के बाद

चूँकि सुधा का सिर्फ इस नए ऑफिस में 7 दिन हुए थे इसलिए उसे fresher trainee के हिसाब से रखा गया था| सुधा ने इंटरव्यू के दौरान बॉस अमित से ये request भी की थी कि सुधा को trainee के तौर पर ऋतू के टीम में रखा जाये| लेकिन बॉस अमित ने ऐसा नहीं किया| इस वजह से ऋतू और सुधा बॉस अमित को कभी कभी खड़ूस भी बुलाते थे और जोक्स बनाकर अपने में हस्ते थे| पर बॉस अमित था बहुत serious बंदा| वो सिर्फ कंपनी के काम से मतलब रखता था|

सुधा अपने fresher trainee टीम के साथ 2nd floor में जाती है| रूम पिछले दिन ही खोला गया था और थोड़ी बहुत साफ़ सफाई की गयी थी| Computer का पूरा system तो वहां पहले से मौजूद था लेकिन काम बंद था| इस नए freshers batch के लिए वहां training की व्यवस्था की गयी थी|

सुधा के टीम का लीडर (TL) रोहन था जो ऋतू का अच्छा दोस्त था| और ऋतू ने रोहन को सुधा से introduce भी करवा दिया था और कहा था training अच्छे से करवा देना|

इस टीम में कुल 7 जान थे जो 2nd floor में बैठे थे| 2nd floor में कुल 3 रूम थे| एक main training hall (Room 1) और बाकी के extra दो रूम, Room 2 and Bathroom | Room 1 (training hall) में घुसने के बाद सुधा वहां लगे पुराने कंपनी के performance chart को देखने लगी| फिर उसकी नज़र एक रूम के दरवाज़े पर पड़ी जिसमे Room 2 और coffee Room लिखा था लेकिन उसे काटकर उसपर ‘No entry’ लिखा गया था| सुधा training रूम से निकलकर उस रूम 2 की तरफ बढ़ी की तभी team leader रोहन ने पीछे से आवाज़ दी, “सब earphone के साथ system में बैठ जाए और instructions को ध्यान से follow करे”|

सुधा ने ये सुनते ही दोबारा main ट्रेनिंग हॉल की तरफ बढ़ी और अंदर जाकर अपने system पर बैठ गयी| लेकिन सुधा का मन अभी भी उस room 2 की तरफ ही था क्योकि वहां सुधा का favourite drink coffee उसका इंतज़ार कर रहा था| सुधा ने सोचा की coffee लेकर ही काम पर बैठा जाए तो training अच्छे से होगी|

Final words-

दोस्तों इसके बाद सुधा के साथ क्या क्या हुआ, क्या सुधा उस room 2 में गई, क्या उसने वहां coffee पिया, क्या है उस कॉफ़ी मशीन का राज़; इन सब के बारे में हम इस horror story in hindi के PART 2 में जानेंगे| Part 2 मैं बहुत जल्द publish करूँगा| Publish करते ही उसका link मैं यहाँ mention कर दूंगा| तब तक आप मेरे ब्लॉग TravelHindi.com के साथ बने रहे|

– अनिरुद्ध