khatarnak horror story in hindi

Horror story in Hindi – “Call center का coffee machine…” PART 2

Horror story in Hindi – नमस्कार दोस्तों, फिर से मैं अनिरुद्ध आपका स्वागत करता हूँ मेरे ब्लॉग TravelHindi.com पर| दोस्तों आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ Horror story in Hindi – “Call center का coffee machine…” का दूसरा और अंतिम PART 2 | अगर आपने इस horror story का Part 1 नहीं पढ़ा है तो पहले उसे पढ़ ले – click here

Horror story in hindi – सुधा की training शुरू हो गयी

ट्रेनिंग शुरू हो चुकी थी| सारे freshers अपने अपने system में बैठकर training का हिस्सा बन चुके थे| Team leader रोहन सभी freshers को एक एक करके समझा रहा था| बीच में बॉस अमित की entry भी हुई| बॉस ने भी सारे freshers को एक एक करके परखा| लगभग 2 घंटे बाद रोहन ने एक छोटे break की घोषणा की|

सुधा अपने system पर बैठे कुछ काम निपटाने लगी| काम ख़तम करते ही जब हो अपने system से उठी तो सब जा चुके थे| सुधा काम में इतनी busy थी की उसे ख्याल ही नहीं रहा| अब training room में सुधा अकेली थी|

khatarnak horror story in hindi
khatarnak horror story in hindi

Horror story in hindi – सुधा coffee के लिए Room 2 की तरफ बढ़ी

सुधा Training hall Room 1 से निकली और Room 2 की तरफ देखा| वहाँ कोई नहीं था| सुधा ने मन ही मन सोचा कॉफ़ी रूम तो खाली है, फिर सारे गए कहाँ? सब के सब क्या निचे चले गए? शायद किसी को कॉफ़ी पसंद नहीं, इसलिए खाली है| सुधा ने पहले सोचा की निचे ऋतू के पास चला जाए, लेकिन ऋतू शायद client के साथ phone पर रहे, क्योकि एकदम से निचे floor में घुसना मना था जहाँ ऋतू बैठती थी| उसने सोचा की चलो एक कप कॉफ़ी पिया जाये| और फिर सुधा ‘Room 2 coffee रूम’ की तरफ बढ़ने लगी|

रूम 2 के दरवाज़े पर कांच लगा था और काफी धूल जमी थी| उसने कांच से अंदर झांक कर देखा, और हैरान रह गयी| अंदर रूम बहुत साफ़ था और सामने एक कॉफ़ी मशीन रखा था| कॉफ़ी मशीन देखकर सुधा के जान में जान आयी|

Khatarnak Horror story in hindi – सुधा ने खोला room 2 का दरवाज़ा

दरवाज़ा खोलने के बाद सुधा को रूम काफी साफ़ सुथरा दिखा| पर अंदर से कुछ अजीब बदबू आ रही थी| शायद कोई चूहा मरा हो!! पर इतने साफ़ सुथरे रूम में चूहा कैसे आ सकता है? जो भी हो सुधा आगे बढ़ी|

दरवाज़ा automatic था इसलिए अपने आप बंद हो चूका था| सामने कॉफ़ी मशीन रखा था जिसमे धूल जमा हुआ था| सुधा को अजीब लगा!! रूम साफ़ लेकिन मशीन में इतनी गंदगी|

सुधा ने जब मशीन को हाथ लगाया तो मशीन काफी गरम था| शायद अभी अभी किसी ने कॉफ़ी पिया हो| सुधा ने मशीन से कॉफ़ी निकाली और पास रखे बेंच पर बैठ गयी| सुधा काफी relax लग रही थी क्योकि उसके हाथ में उसकी favourite drink कॉफ़ी थी|

कॉफ़ी की एक चुस्की लेकर सुधा ने अपने मोबाइल की तरफ देखा| वो एकदम से रुकी और फिर दोबारा कॉफ़ी कप की तरफ देखा| कॉफ़ी काफी tasty थी| शायद इतनी दमदार coffee उसने आज तक नहीं पी थी|

मोबाइल की तरफ देखकर सुधा ने पाया मोबाइल में नेटवर्क नहीं है| अजीब है, यहाँ तो full tower रहता है!! सुधा ने मोबाइल को switch off किया फिर on किया| अभी मोबाइल में tower था|

Real horror story in hindi – मोबाइल का screen काँपना, अजीब अजीब आवाज़े

मोबाइल में थोड़ी देर msg check करते करते सुधा ने ये महसूस किया की उसके मोबाइल का screen काँप रहा है| अजीब है, ये हो क्या रहा है इस रूम में?? सुधा ने कॉफ़ी के कप को पास पड़े टेबल में रखा और दरवाज़े की और बढ़ी|

ये क्या!! दरवाज़ा किसने बंद किया? जिस कॉफ़ी रूम में सुधा थी उसका दरवाज़ा बंद हो चूका था| सुधा ने ज़ोर ज़ोर से दरवाज़े पर अपने हाथ से आवाज़ की लेकिन उसे सुनने वाला कोई नहीं था| सबसे चौकाने वाली बात ये थी की सुधा ने जब दरवाज़े के कांच से बाहर का नज़ारा देखा तो हैरान रह गयी| सामने Room 1 training hall के gate के पास एक security guard अजीब तरह से सिर झुकाये बैठा था|

सुधा साफ़ देख पा रही थी उसकी आँखें खुली हुई है और वो निचे की तरफ सर झुकाये चुप चाप बैठा है| सुधा ने रूम के अंदर से आवाज़ लगायी- “ओ Security वाले भईया…!! दरवाज़ा नहीं खुल रहा है, बहार से लगा दिया शायद किसी ने, जरा खोल देना”|

पर उस Security ने कोई response नहीं दिया| सुधा समझ गयी थी की शायद आवाज़ उस तक नहीं पहुंच पा रही है| वो ज़ोर ज़ोर से दरवाज़े पर अंदर से हाथ मारने लगी| लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा| वो Room 2 के अंदर से चिल्लाती रही और दरवाज़े के कांच से देखती रही, लेकिन security चुप चाप chair में सर झुकाये बैठा था|

सुधा ने फिर अपना मोबाइल check किया| इस बार screen नहीं काँप रहा था| लेकिन फ़ोन में network भी नहीं था| तभी सुधा को एक ख्याल आया जिसे सोच कर वो पल भर के लिए घबरा गयी| उसने मन ही मन अपने आप से पूछा-

“ये security वाले भईया को तो पहले office में कभी नहीं देखा!!” फिर उसने अपने मन को समझाते हुए कहा शायद इसकी ड्यूटी ऊपर वाले floor पे रहती होगी| फिर सुधा ने मन ही मन गुस्से में कहा – “एक बार निकलने दो इस रूम से, इसकी खैर नहीं..” कबसे चिल्ला रही हूँ, इसे दिख भी नहीं रहा; और बाहर से रूम को बंद करके सामने बैठा है| अकाल भी नहीं है की रूम को lock करने से पहले एक बार रूम के अंदर देख लेना चाहिए की कोई है भी या नहीं!!

Bhayanak horror story in hindi – सुधा ने कुछ ऐसा देखा जिसे देखकर वो बेहोश हो गयी

तभी सामने सीढ़ियों में से उसके team का leader (TL) चलकर Room 1 की ओर आ रहा था| सुधा ने मन ही मन सोचा – “अब रोहन सर इसकी खबर लेंगे|”

लेकिन ये क्या सामने जिस chair पर security guard बैठा था उसके पास आकर रोहन रुक गया और यहाँ वहाँ देखने लगा| सिक्योरिटी गार्ड चुप चाप बैठा रहा| सुधा ने मन ही मन सोचा – “कैसा गार्ड है, senior आ रहा है और चुपचाप बैठा है?” कोई salute नहीं, respect नहीं???

सुधा ने देखा की रोहन चेयर के पास खड़े खड़े यहाँ वहाँ कुछ ढूंढ रहा था| सुधा ने देखा की रोहन सर के जूते के lace खुले थे| तभी रोहन ने जिस चेयर पर सिक्योरिटी गार्ड बैठा था उसपर अपने पैरों को रखा और जूते के lace बांधने लगा; जैसे कोई उस chair में बैठा ही नहीं था| तभी चेयर में बैठे सिक्योरिटी गार्ड ने एकदम से room 2 के दरवाज़े की तरफ देखा और अंदर से चिल्ला रही सुधा से नज़रे मिलाई और ज़ोर ज़ोर से हंसने लगा|

सुधा ने और देखा – रोहन को खड़े खड़े चेयर में पैर रखकर जूते के lace बांधने में problem आ रही थी इसलिए वो उस चेयर पर बैठ कर जूते के lace बांधने लगा जिसपर सिक्योरिटी गार्ड बैठा था|

इतना देखते ही सुधा खड़े खड़े एकदम से गिर गयी और बेहोश हो गई|…

Horror story in hindi – सुधा को आया होश

कुछ घंटो के बाद जब सुधा को होश आया तो वो निचे floor में अपन cabin पर बैठी थी| आँख खोलते ही उसने अपने आस पास office के बाकी staffs को देखा| वहाँ ऋतू, team leader रोहन, बॉस अमित, और बाकी सारे staffs मौजूद थे|

बॉस अमित ने पानी का गिलास सुधा की ओर बढ़ाते हुए सुधा से पूछा, “सुधा क्या हुआ था, तुम room 2 में क्या कर रही थी??” रूम में इतनी गंदगी है, और अँधेरे में तुम रूम में घुसी कैसे??

इतना सुनते ही सुधा चौक गई, और अपने आप से कुछ सवाल पूछने लगी – रूम में अँधेरा कहा था? रूम तो इतना साफ़ था! अंदर paintings लगे थे, कितना साफ़ था! और इतना सोचते ही सुधा के मुँह से एक आवाज़ निकली – “और वो coffee machine”???

ये सुनते ही ऑफिस के सार staffs एक दूसरे को देखने लगे| वो एक दूसरे को कुछ इस तरह देख रहे थे जैसे वो बहुत कुछ जानते हो; या फिर कोई गहरा राज़ छुपा रहे हो!!

Climax – तो क्या थी असल कहानी?

दरअसल उस BPO Office के उस ऊपर वाले floor के उस room 2 में canteen हुआ करती थी जहाँ लोग काम के बीच आकर relax करते थे और coffee पीते थे| वहाँ room 2 training hall के बाहर एक सिक्योरिटी गार्ड हुआ करता था जो वहाँ रखे computers, electronic चीज़ो, और पुरे system की देख रेख करता था|

वो गार्ड कॉफ़ी पिने का बहुत शौक़ीन था इसलिए वो कॉफ़ी मशीन से बीच बीच में कॉफ़ी पी लेता था| एक दिन बॉस ने उसे कॉफ़ी पीते देख लिया था| और इस छोटी सी बात पर उसे नौकरी से निकाल दिया था| गार्ड नौकरी खो देने दे गम से पूरी तरह depression में चला गया था| ज़िन्दगी से परेशान होकर एक दिन उसने उस कॉफ़ी मशीन वाले रूम 2 में suicide कर लिया|

तब से लेकर आज तक उस call center में काम कर रहे employees ने उस गार्ड को उसी chair में सर झुकाकर बैठे हुए बहुत बार देखा है, और senior से complaint भी की है; लेकिन उन employees की बातों पर कोई विश्वास नहीं करता और आज भी सुधा के साथ कुछ ऐसा ही हुआ!!


— The end —

# Motivational story in hindi