Swarved Mahamandir Dham in Hindi : घूमने की सम्पूर्ण जानकारी

स्वर्वेद महामंदिर धाम उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर से 15 किलोमीटर दूर उमरहा में स्थित है। जिसे बनने में तक़रीबन 20 साल का समय लगा और ये 7 मंजिल का महामंदिर 2023 में पूरी तरह से बन के तैयार हुआ। जो की विश्व का सबसे बड़ा ध्यान और योग केंद्र है। यहां पे 20 हजार से अधिक लोग एक साथ बैठकर ध्यान कर सकते हैं।

इस मंदिर की सबसे खास बात यह है की यहां पे भगवन की नहीं बल्कि योग साधना की पूजा की जाती हैं। आज हम विस्तार से Swarved Mahamandir Dham in Hindi के बारे में बात करने वाले है और हमें आशा है की आप इस पोस्ट पढ़ने के बाद यहाँ पे जरूर घूमने आने वाले है ।

Table of Contents

स्वर्वेद महामंदिर की विशेषताएं ( Features Of The Swarved Mahamandir Varanasi )

वैसे तो इस महामंदिर की बहुत सारी ही विशेषताएं है लेकिन आज हम कुछ प्रमुख्य विशेषताओ के बारे में बात करने वाले है।

1. विश्व का सबसे बड़ा ध्यान केंद्र ( World’s largest meditation center )

विश्व का सबसे बड़ा ध्यान केंद्र ( World’s largest meditation center )
विश्व का सबसे बड़ा ध्यान केंद्र ( World’s largest meditation center )

स्वर्वेद महामंदिर धाम को विश्व का सबसे बड़ा ध्यान केंद्र है जिसमे 20 हजार से अधिक लोग एक साथ बैठकर ध्यान कर सकते हैं। स्वर्वेद मंदिर को ‘विहंगम योग’ यानि कि योग साधकों के लिए बनाया गया है।

2. सद्गुरु श्री सदाफल देव जी महाराज ( Sadhguru Shri Sadaphal Dev Ji Maharaj )

सद्गुरु श्री सदाफल देव जी महाराज ( Sadhguru Shri Sadaphal Dev Ji Maharaj )
सद्गुरु श्री सदाफल देव जी महाराज ( Sadhguru Shri Sadaphal Dev Ji Maharaj )

स्वर्वेद महामंदिर धाम का नाम स्वर्वेद ग्रंथ से लिया गया है जो “सद्गुरु श्री सदाफल देव जी महाराज” द्वारा लिखा गया एक महाग्रंथ है।

3. 125 पंखुड़ी वाला कमल गुंबद ( 125 petal Lotus Dome )

स्वर्वेद महामंदिर धाम का मुख्य गुम्बद 125 पंखुडिओ के विशालकाय कमल पुष्प की तरह है जो गुजरात में GRC तकनीक द्वारा बनाए जा रहे 9 गुम्बद 9 कमलो की तरह है ।

4. औषधीय जड़ी-बूटियों वाला उत्तम उद्यान ( Exquisite garden featuring medicinal herbs )

स्वर्वेद महामंदिर धाम में एक जड़ी बूटियों वाला गार्डन बनाकर तैयार किया गया है। जहाँ पर कुछ दुर्लभ किस्म के औषधीय पौधों को लगाया गया है।

5. 3137 स्वर्वेद छंद मकराना संगमरमर पर उत्कीर्ण हैं ( 3137 Swarved verses engraved on Makarana Marble )

3137 स्वर्वेद छंद मकराना संगमरमर पर उत्कीर्ण हैं ( 3137 Swarved verses engraved on Makarana Marble )
3137 स्वर्वेद छंद मकराना संगमरमर पर उत्कीर्ण हैं ( 3137 Swarved verses engraved on Makarana Marble )

इस सात मंजिला भव्य महामंदिर में मकराना संगमरमर पर 3137 स्वर्वेद के छंद लिखे गए हैं और बाहरी दीवार पर 138 प्रसंग वेद उपनिषद, महाभारत, रामायण, गीता आदि के प्रसंग पर चित्र बनाए गए हैं, ताकि लोग उससे प्रेरणा लें सकें।स्वर्वेद” एक आध्यात्मिक ग्रंथ है जो “सद्गुरु श्री सदाफल देवजी महाराज” द्वारा लिखा गया है।

6. महामंदिर की आंतरिक संरचना ( Internal structure of Mahamandir  )

महामंदिर की आंतरिक संरचना ( Internal structure of Swarved Mahamandir Dham in Hindi )
महामंदिर की आंतरिक संरचना ( Internal structure of Swarved Mahamandir Dham in Hindi   )

जब आप इस महामंदिर में प्रवेश करेंगे तो आप को चारो तरफ विभिन प्रकार की मन मोह लेने वाली संरचना देखने को मिल जायेंगी। ये सभी चीजे Swarved Mahamandir Dham in Hindi को काफी आकर्षक बनती है ।

महामंदिर का निर्माण ( Construction of Swarved Mahamandir Dham Varanasi )

महामंदिर का निर्माण ( Construction of Swarved Mahamandir Dham in Hindi Varanasi )
महामंदिर का निर्माण ( Construction of Swarved Mahamandir Dham in Hindi Varanasi )

स्वर्वेद महामंदिर धाम का निर्माण कार्य 2004 में शुरू हो गया था और इसे पूरी तरह से बन के तैयार होने में लगभग 20 साल का समय लगा। ये महामंदिर पूरी तरह से दिसंबर 2023 में बन के तैयार हुआ।

  • महामंदिर की दीवारों पर 4000 वेदों से जुड़े दोहे लिखे गए हैं जो इस मंदिर को काफी आकर्षक बनाते है।
  • महामंदिर को ‘विहंगम योग’ यानी कि योग साधकों के लिए बनाया गया है।
  • महामंदिर की दीवारों के चारों तरफ से गुलाबी बलुआ पत्थर से सजाया गया है।
  • प्राचीन दर्शन, आध्यात्मिकता और आधुनिक वास्तुकला का मिश्रण, स्वर्वेद महामंदिर धाम वास्तव में आने वाली कई पीढ़ियों के लिए एक ऐतिहासिक स्थल होगा।

स्वर्वेद महामंदिर धाम की संरचना ( Structure of Swarved Mahamandir Dham in Hindi )

  • 300,000 वर्ग फुट से अधिक में फैले ,बारीक नक्काशीदार बलुआ पत्थर की संरचनाएं भारतीय विरासत की झलक दर्शाती हैं।
  • मंदिर के बाहर नीचे की तरफ आपको, ऋषि मुनि की मूर्ति नजर आएगी, जो साधना कर रहे हैं।
  • इसके साथ ही हाथियों का भी झुंड आप को नज़र आएगा।
  • स्वर्वेद महामंदिर धाम में पुरे 101 फव्वारे भी आप को नज़र आयेंगे।

स्वर्वेद”शब्द का अर्थ ( Meaning of the word “Swarveda” )

स्वः + वेद = स्वर्वेद । स्वः का मतलब आत्मा और परमात्मा होता है और वेद का मतलब ज्ञान है। जिसके द्वारा आत्मा और परमात्मा का ज्ञान हो वही स्वर्वेद है । सदाफल महाराज ने 17 वर्षों तक हिमालय में स्थित एक आश्रम में गहन साधना की थी। वहां से उन्हें जो ज्ञान प्राप्त हुआ उसे ही ग्रंथ के रूप में लिखा गया। उसी ग्रंथ का नाम स्वर्वेद है।

दर्शन का समय ( Darshan Time Of Swarved Mahamandir Dham in Hindi )

दर्शन का समय :- प्रातः – 08 बजे से   शाम :- 07 बजे तक 

स्वर्वेद महामंदिर धाम कैसे पहुंचें? ( How To Reach Swarved Mahamandir Dham in Hindi )

स्वर्वेद महामंदिर , उत्तर प्रदेश के मुख्य शहरों में से एक वाराणसी शहर से 15 किलोमीटर दूर “उमरहा” में स्थित है। आप यहां पे भारत के किसी भी कोने से बहुत ही आसानी से पहुंच सकते है । ये एक ऐसा स्थान है जहाँ पे आप हवाई , सड़क या रेल मार्ग, किसी से भी पहुंच सकते है । यहां पे पहुंचने के कुछ सर्वोत्तम तरीकों को नीचे बताया गया है ।

1.फ्लाइट से स्वर्वेद महामंदिर धाम कैसे जाएं ? ( How To Reach Swarved Mahamandir Dham by Flight )

इस महामंदिर का नजदीकी हवाई अड्डा “लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा” है। लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा स्वर्वेद महामंदिर धाम से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

आप अपने यहां से फ्लाइट के माध्यम से लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा  पर पहुंचने के बाद वहां पर चलने वाले स्थानीय परिवहन जैसे – कैब , ऑटो रिक्शा , टैक्सी या ई- रिक्शा आदि की सहायता से आप स्वर्वेद महामंदिर बहुत ही आसानी से पहुंच सकते हैं।

2. ट्रेन से स्वर्वेद महामंदिर धाम कैसे जाएं ? ( How To Reach Swarved Mahamandir by Train )

आप ट्रेन से काफी आसानी से स्वर्वेद महामंदिर धाम पहुंच सकते हैं। क्योंकि स्वर्वेद महामंदिर का नजदीकी रेलवे स्टेशन की बात करें तो वह वाराणसी जंक्शन है ।

आप अपने यहां से आसानी से वाराणसी जंक्शन  आ सकते है। फिर वाराणसी जंक्शन पर पहुंचने के बाद यहां पर चलने वाले स्थानीय परिवहन जैसे – कैब , ऑटो रिक्शा , टैक्सी या ई- रिक्शा आदि की सहायता से आप स्वर्वेद महामंदिर धाम बहुत ही आसानी से पहुंच सकते हैं।

3. सड़क मार्ग से स्वर्वेद महामंदिर धाम कैसे जाएं ? ( How To Reach Swarved Mahamandir Dham by Road )

सड़क मार्ग की सहायता से अगर आप स्वर्वेद महामंदिर धाम जाने के बारे मे सोच रहे हैं तो आप बिलकुल आसानी से यहां पे सड़क मार्ग से पहुंच सकते हैं। क्योंकि स्वर्वेद महामंदिर वाराणसी के पास में ही स्थित है, और वाराणसी भारत के तकरीबन सभी क्षेत्रों से सड़क मार्ग से काफी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है तो आप आसानी से सड़क मार्ग से भी यहां पहुंच सकते हैं।

स्वर्वेद महामंदिर धाम घूमने का खर्चा ( Budget To Visit  Swarved Mahamandir Varanasi )

अगर हम स्वर्वेद महामंदिर धाम घूमने के खर्चे की बात करे तो यहां पे घूमने के लिए आप को एक रुपया भी खर्च नहीं करना होगा क्यों की यहां पे कोई भी प्रवेश शुल्क नहीं लगता है। इस महामंदिर में प्रवेश निशुल्क है। केवल आपको अपने घर से आने जाने का ही शुल्क वहन करना होगा बाकि किसी भी प्रकार कोई शुल्क मंदिर में नहीं लगता है

इसे भी पढ़े :- सारनाथ में घूमने की जगह

FAQ’s About Swarved Mahamandir Dham in Hindi

swarved mahamandir address?

गाज़ीपुर रोड, उमरहा, वाराणसी, उत्तर प्रदेश - 221112

World's largest meditation centre?

स्वर्वेद महामंदिर - विश्व का सबसे बड़ा ध्यान केंद्र है I

निष्कर्ष :- ( Conclusion )

हमने इस पोस्ट में आपको Swarved Mahamandir Dham in Hindi के बारे में बहुत ही विस्तार से बताया है और हमे आशा है की आपको इस पोस्ट को पढ़ने के बाद बहुत सारी जानकारी मिली होगी । अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा होगा तो आप इसे अपने दोस्तों में शेयर भी कर सकते है । “Swarved Mahamandir Dham in Hindi” पोस्ट को इतने प्यार से पढ़ने के लिए आपका तहे दिल से धन्यवाद ………….🙏

 

Leave a Comment